मुख्यमंत्री ने सरकारी खजाने का मुंह रामपुर की ओर खोला

  • रामपुर में सड़कों के लिए सौ करोड़ रुपये, अस्पताल में सुपर स्पेशलिटी सुविधायें, कोसी पर बैराज और लालपुर में दो पुल बनाने की घोषणा
  • सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव ने कहा कि जनता से वादाखिलाफी भ्रष्टाचार ही है, सरकार चाहे, तो जनहित में सब कुछ कर सकती है
 

रामपुर में लैपटॉप पाने वाले छात्र-छात्राओं के साथ मंच पर मुख्यमंत्री अखिलेश यादव, सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव व नगर विकास मंत्री आजम खां
रामपुर में लैपटॉप पाने वाले छात्र-छात्राओं के साथ मंच पर मुख्यमंत्री अखिलेश यादव, सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव व नगर विकास मंत्री आजम खां
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने आज रामपुर स्थित मौलाना मुहम्मद अली जौहर यूनिवर्सिटी परिसर में आयोजित भव्य समारोह में बारहवीं पास 9177 छात्र-छात्राओं को लैपटाप वितरित किये, साथ ही रामपुर के विकास के लिए खजाने का मुंह खोल दिया।
मुख्यमंत्री ने रामपुर नगर की सड़कों के निर्माण और रख-रखाव के लिए 100 करोड़ रुपए, जिला चिकित्सालय को उच्चीकृत करने, उसमें सुपर स्पेशलिटी सुविधाएं कैंसर केयर, कार्डियक यूनिट, एमआरआई, सीटी स्कैन सेंटर, डिजिटल एक्स-रे स्थापित करने व 150 बैड से 300 बैड का करने, जौहर विश्वविद्यालय की तरफ कोसी नदी तट पर बैराज की स्थापना करने, लालपुर वियर के स्थान पर दो लेन का पुल बनाने, मौलाना मुहम्मद अली जौहर मार्ग पर स्थित गाँधी समाधि के चारों ओर सब-वे बनाने के साथ ही स्थल विकास और रामपुर क्लब परिसर में लोक निर्माण विभाग के चार सूट को अतिरिक्त निरीक्षण भवन तथा आफिसर्स ट्रांजिट हास्टल बनाने की घोषणाएं कीं।
कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ने मौलाना मुहम्मद अली जौहर यूनिवर्सिटी को विश्वस्तर की शिक्षण संस्था बनाने में कोई भी कमी न रहने देने का आश्वासन देते हुए कहा कि यूनिवर्सिटी में समय की जरूरतों के हिसाब से प्रत्येक विधा की आधुनिक शिक्षा का इंतजाम और प्रावधान बहुत ही कम समय में सुनिश्चित किया जाएगा। अपनी सरकार के प्रमुख निर्णयों की जानकारी देते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि उनकी सरकार ने बहुत कम समय में जो फैसले लिए हैं, वैसे निर्णय और किसी प्रान्त में लिए ही नहीं गए देश के अनेक प्रान्तों की सरकारें छात्रों को निःशुल्क लैपटाप, कन्या विद्याधन तथा किसान कर्ज माफी जैसे फैसलों में उत्तर प्रदेश सरकार की पहल की नकल कर रही हैं। अखिलेश यादव ने यह भी कहा कि उनकी सरकार प्रदेश के युवाओं को उनकी क्षमता तथा वक्त की जरूरतों के मुताबिक समाज में आगे बढाने, कामयाब होने तथा खुशहाल जिन्दगी जीने में मदद जारी रखेगी।
सांसद, पूर्व मुख्यमंत्री तथा समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव ने कम से कम समय में उत्तर प्रदेश को शिक्षा और चिकित्सा के क्षेत्र में देश का अगुआ राज्य बनाने की चर्चा करते हुए कहा कि जो देश स्वास्थ्य और शिक्षा के क्षेत्र में आगे हैं वही देश आज सबसे विकसित हैं।
मुलायम सिंह यादव ने इससे पहले बिना किसी का नाम लिए कहा कि देश नफरत के नारों और लोगों को आपस में लड़ने की नीति से आगे बढ़ ही नहीं सकता। देश काम से, खुशहाली से और सभी की तरक्की से आगे बढ़ता है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार ने अभी तक अच्छा काम किया है और इसकी रफ्तार आगे भी कायम रहे यही असल कामयाबी होगी। सरकार ठान ले तो जनहित का काम और संकल्पों को पूरा करने में धन की कोई कमी नहीं आड़े नहीं आ सकती। जनता के साथ किये गए वादे पूरे होने ही चाहिये, क्योंकि वादा खिलाफी भी एक तरह का भ्रष्टाचार है।
सांसद श्री यादव ने कहा कि आजादी के बाद से लम्बे समय तक शासन करने वालों ने देश की सुरक्षा और सीमाओं को कितना महत्त्व दिया है, इसका उदाहरण यह है कि चीन आज हमारी सीमा तक सिर्फ तीन घंटे में रेल और विमान से रसद, हथियार और सैनिक पहुंचा सकता है, जबकि भारत को इसके लिए साढ़े तीन दिन चाहिए। इससे पहले उन्होंने बताया कि पिछली सरकार के समय का बिजली विभाग का करीब 25 हजार करोड़ रुपए बकाया है। पूर्व मुख्यमंत्री ने उम्मीद जताई कि एक दिन मौलाना मुहम्मद अली जौहर यूनिवर्सिटी वैश्विक स्तर की बन कर रहेगी।
इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने कार्यक्रम के बाद मंच से नीचे उतर कर छात्र-छात्राओं से मुलाकात करके उनको लैपटाप वितरित किए। समारोह के आयोजक नगर विकास मंत्री आजम खां ने मुख्यमंत्री को रामपुरी हुक्का, वायलिन और मुलायम सिंह यादव को रामपुर की प्रसिद्ध नक्काशी से धातु के बने साइबेरियन क्रेन्स का जोड़ा भेंट किया।
अपने सम्बोधन में नगर विकास मंत्री आजम खां ने कहा कि मुजफ्फरनगर के दंगे इंसानियत पर नीचता की ज़हनियत और खुदगर्जी की सियासत की निशानी हैं। इन दंगों में सबसे ज्यादा नुकसान गरीब, ग्रामीण और मजदूरों का हुआ। नगर विकास मंत्री ने कहा कि नफरत की खेतियां बोने वालों को समझना चाहिए कि उनको फसल भी नफरत की ही काटनी होगी। उन्होंने यह भी कहा कि देश को आज सहनशीलता, मुहब्बत और आपसी समझदारी बढ़ाने वाले लोगों की जरुरत है, जनता को ऐसे ही लोगों को बढ़ावा देना चाहिए।
आजम खां ने बिना किसी का नाम लिए कहा कि कोई और देश होता तो अपनी निजी शोहरत के लिए सरकारी खजाने से पत्थरों के शहर बनाने और जिंदा होते हुए भी अपनी मूर्तियाँ लगाने वालों का वही हश्र होता जो तानाशाहों का हुआ। उन्होंने कहा कि इल्म की रोशनी वक्त की आंधियों और हालत के तूफानों से जीतने की ताकत देती है, इसीलिये हमारी सरकार ने छात्र-छात्राओं के लिए लैपटाप वितरण, कन्या विद्याधन, हमारी बेटी उसका कल और बेरोजगारी भत्ता देने की शुरुआत की है। मौलाना मुहम्मद अली जौहर यूनिवर्सिटी के छात्रों के अनुशासन की सराहना करते हुए श्री खान ने कहा कि सरकार की लैपटाप वितरण योजना चुनाव पूर्व वादों पर अमल का ही हिस्सा है। इस अवसर पर मंत्रिमण्डल के अनेक सदस्य, जनप्रतिनिधिगण, वरिष्ठ अधिकारी, शिक्षकगण, छात्र-छात्राएं एवं गणमान्य नागरिक उपस्थित थे।

Leave a Reply