मुख्यमंत्री ने खुशवंत सिंह के निधन पर शोक व्यक्त किया

जाने-माने पत्रकार, लेखक एवं इतिहासकार खुशवन्त सिंह
जाने-माने पत्रकार, लेखक एवं इतिहासकार खुशवन्त सिंह
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने जाने-माने पत्रकार, लेखक एवं इतिहासकार खुशवन्त सिंह के निधन पर गहरा दुःख व्यक्त किया है। वे 99 वर्ष के थे। आज यहां जारी अपने शोक संदेश में मुख्यमंत्री ने कहा कि खुशवन्त सिंह ने सिख धर्म के इतिहास लेखन में जिस प्रामाणिकता का परिचय दिया है, वह उनके गम्भीर लेखन एवं विशद अध्ययन का परिचायक है। उनके द्वारा लिखे गए कई बेहतरीन उपन्यास साहित्य जगत की अनमोल धरोहर हैं। उन्होंने पत्रकारिता के क्षेत्र में निष्पक्षता से कार्य करते हुए अपनी अलग पहचान बनाई है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि श्री सिंह द्वारा पत्रकारिता, साहित्य एवं इतिहास के क्षेत्र में किए गए योगदान को हमेशा याद रखा जाएगा। उन्होंने कहा कि खुशवन्त सिंह के निधन से समाज को अपूरणीय क्षति हुई है। दिवंगत आत्मा की शांति की कामना करते हुए उन्होंने शोक संतप्त परिजनों के प्रति अपनी गहरी संवेदना व्यक्त की है।
एक अन्य बयान में मुख्यमंत्री ने उ.प्र. उर्दू अकादमी के पूर्व अध्यक्ष प्रो. महमूद इलाही के निधन पर गहरा दुःख व्यक्त किया है। वे 85 वर्ष के थे। शोक संदेश में मुख्यमंत्री ने कहा कि उर्दू भाषा और साहित्य के उत्थान के लिए प्रो. महमूद इलाही के प्रयासों को भुलाया नहीं जा सकता। उनके द्वारा लिखी गई विभिन्न उर्दू पुस्तकें विश्वविद्यालयों के पाठ्यक्रम का हिस्सा हैं। प्रो. इलाही के निधन से साहित्य जगत को जो क्षति हुई है, उसकी भरपाई होना कठिन है। मुख्यमंत्री ने दिवंगत आत्मा की शांति की कामना करते हुए शोक संतप्त परिजनों के प्रति अपनी गहरी संवेदना व्यक्त की है।
ज्ञातव्य है कि प्रो. इलाही गोरखपुर विश्वविद्यालय के कार्यवाहक कुलपति तथा उर्दू के पूर्व विभागाध्यक्ष भी थे। वे कुछ समय से बीमार थे। उनका देहान्त कल लखनऊ में हुआ था।

Leave a Reply