भारत आने के लिए वालमार्ट ने की लॉबिंग

भारत आने के लिए वालमार्ट ने की लॉबिंग

पिछले कुछ समय से भारत में चर्चित अमेरिकन कंपनी वालमार्ट अब नए कारण से चर्चा में है। कहा जा रहा है कि खुदरा क्षेत्र की इस कंपनी ने भारत आने का रास्ता साफ़ करने के लिए लॉबिंग की। उसने अमेरिकी सांसदों का समर्थन जुटाने के लिए मोटी धनराशी खर्च की। सांसदों  पर खर्च करने के अलावा भी लॉबिंग पर कंपनी ने वर्ष 2008 से अब तक कुल करीब 125 करोड़ रुपये खर्च किये। वॉलमार्ट ने अमेरिकी सीनेट को सौंपे एक दस्तावेज में इस खर्च से सम्बंधित ब्यौरा दिया।

अमेरिका में कंपनियों को इस प्रकार की लॉबिंग करने की मनाही नहीं है, लेकिन उन्हें हर तिमाही पर इस पर हुए खर्च का ब्यौरा सीनेट को देना होता है। वालमार्ट 2008 से लगातार भारत आने के लिए लॉबिंग कर रही है। गत 14 सितम्बर भारत की संसद द्वारा एफडीआई को मंजूरी के साथ ही इस कंपनी का भारत आने का रास्ता साफ़ हो गया है और वालमार्ट ने भारतीय बाज़ार में उतरने की तैयारियां शुरू कर दी हैं।

Leave a Reply