भाजपा के लिए उपजाऊ जमीन तैयार कर रहे हैं डीएम

  • नाराज विधायकों ने शीर्ष नेतृत्व को दी जानकारी
  • दलालों के माध्यम से तत्काल हो जाते हैं कार्य
चौंक गये न, पर अभिनेता नहीं, बल्कि बदायूं के जिलाधिकारी हैं चन्द्रप्रकाश त्रिपाठी
चौंक गये न, पर अभिनेता नहीं, बल्कि बदायूं के जिलाधिकारी हैं चन्द्रप्रकाश त्रिपाठी

बदायूं के जिलाधिकारी चन्द्रप्रकाश त्रिपाठी भाजपा के लिए उपजाऊ जमीन तैयार कर रहे हैं। सत्ताधारी कार्यकर्ताओं के साथ विधायक तक परेशान हैं, जबकि दलालों के माध्यम से गैर-कानूनी काम भी फटाफट हो रहे हैं। विधायकों ने गोपनीय बैठक कर शीर्ष नेतृत्व को यह सब बताते हुए चन्द्रप्रकाश त्रिपाठी को हटाने की भी मांग की है।

बदायूं में जिलाधिकारी के पद पर तैनात चंद्रप्रकाश त्रिपाठी को आईएएस ग्रेड दिया गया है, इसलिए उनकी कार्यप्रणाली पहले दिन से ही लचर रही है। उनके आने के बाद से भ्रष्ट बाबुओं की मौज आ रही है। मयूर महेश्वरी ने भ्रष्ट बाबू संतोष शर्मा डीएम आवास में प्रवेश प्रतिबंधित करा दिया, लेकिन चंद्रप्रकाश त्रिपाठी ने कार्यभार संभालते ही संतोष को सभी मुख्य कार्य सौंप दिए। इसके अलावा पिछले दिनों डीएम ने बाबुओं के थोक में तबादले किये और एक-एक कर अधिकाँश को बाद में उनके मनमाफिक पटल दे दिए। सूत्रों का कहना है कि तबादले के इस खेल में लाखों रुपया पैदा किया गया।

सूत्रों का यह भी कहना है कि लाइसेंस से लेकर मुकदमों तक कोई भी कार्य क्यूं न हो, संतोष चुटकियों में करा देता है, लेकिन सत्ताधारी दल समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं के साथ विधायकों तक के काम नहीं हो रहे हैं। शास्त्र लाइसेंस तो सिर्फ उसी के बन रहे हैं, जो पैसे दे रहा है। पैसा न देने वाला चाहे, जितने बड़े व्यक्ति की सिफारिश ले आये, उसका लाइसेंस बन ही नहीं सकता, इसीलिए डीएम आवास पर दलाल हावी हो गये हैं। दलाल व्यवस्था से भाजपाइयों की मौज आ रही है। पैसे देकर तुरंत कार्य करा रहे हैं, लेकिन इस सब से दुखी हो कर समाजवादी पार्टी के सभी विधायकों ने गोपनीय बैठक कर डीएम के कार्य को लेकर असंतोष जताया। सूत्रों का कहना है कि विधायकों ने चन्द्रप्रकाश त्रिपाठी की कार्यप्रणाली से शीर्ष नेतृत्व को अवगत करा दिया है, साथ ही तत्काल हटाने की भी मांग की है।

Leave a Reply