बॉलीवुड कलाकारों संग सरकार ने सैफई में की मस्ती

अभिनेत्री जरीन खान का स्वागत करते सांसद धर्मेन्द्र यादव
अभिनेत्री जरीन खान का स्वागत करते सांसद धर्मेन्द्र यादव

इटावा स्थित सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव के गाँव सैफई में सरकार तो पिछले कई दिनों से है ही, आज बॉलीवुड भी सैफई में ही नज़र आ रहा था। हवाई पट्टी पर आज एयरपोर्ट जैसा नजारा था, क्योंकि मुंबई से बड़ी संख्या में अभिनेता-अभिनेत्री पहुंचे थे।

सैफई महोत्सव के समापन अवसर पर आज सलमान खान, माधुरी दीक्षित, जरीन खान, रनवीर सिंह, करिश्मा तन्ना, आलिया भट्ट सहित तमाम बॉलीवुड कलाकार पहुंचे। इन्हें नौ हवाई जहाज लेकर पहुंचे, जिससे हवाई पट्टी पर नजारा एयरपोर्ट जैसा ही था। इस मौके पर गांव व क्षेत्र के लोग भारी संख्या में जमा रहे, साथ ही भीड़ को काबू रखने के लिए कड़ी सुरक्षा व्यवस्था भी रही। मीडिया कर्मियों पर विशेष रूप से प्रतिबंध रहा।

बॉलीवुड स्टार सलमान और माधुरी सहित कुछ अन्य कलाकार दोपहर में ही सैफई पहुंच गए, जिन्हें पॉवर कारपोरेशन के डाक बंगले ठहराया गया, जहाँ मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने खुद सभी का स्वागत किया। बाद में सोनल चौहान, मल्लिका सेहरावत, जरीन खान, एलिना, आलिया भट्ट, सना खान, वरुण धवल और गुत्थी भी पहुंची, जिनका सैफई महोत्सव आयोजन समिति के अध्यक्ष धर्मेद्र यादव सहित अन्य पदाधिकारियों ने जोरदार स्वागत किया। कार्यक्रम का शुभारंभ मुख्यमंत्री अखिलेश यादव व वरिष्ठ कैबिनेट मंत्री शिवपाल सिंह यादव ने दीप प्रज्ज्वलित कर किया।

उधर रिहर्सल के दौरान कलाकारों का कुछ कीमती और जरूरी सामान चोरी हो गया, साथ ही बॉलीवुड नाइट में दर्शकों के आगे जाने को लेकर हंगामा भी हुआ, तो सुरक्षा व्यवस्था और कड़ी कर दी गई।

दीप प्रज्ज्वलित कर कार्यक्रम का शुभारंभ करते मुख्यमंत्री अखिलेश यादव व कैबिनेट मंत्री शिवपाल सिंह यादव, साथ में खड़े हैं सांसद धर्मेन्द्र यादव
दीप प्रज्ज्वलित कर कार्यक्रम का शुभारंभ करते मुख्यमंत्री अखिलेश यादव व कैबिनेट मंत्री शिवपाल सिंह यादव, साथ में खड़े हैं सांसद धर्मेन्द्र यादव

खैर, महोत्सव की शुरुआत खुद सपा सुप्रीमो ने ही की थी, लेकिन आज उस महोत्सव को आयोजित करने की जिम्मेदारी उनकी अगली पीढ़ी निभा रही है, इसीलिए बहुत कुछ बदला नज़र आ रहा है। ग्लैमर का तड़का उन्हीं युवाओं की देन है और यह सब इसलिए भी जरूरी है कि लोग यह सवाल न उठायें कि अमर सिंह के जाने के बाद पार्टी पुनः पुराने ढर्रे पर लौट गई है। महोत्सव के सहारे उन तमाम लोगों के लिए यह जवाब भी है, लेकिन जिन्हें सिर्फ सवाल ही उठाने हैं, उन्हें कौन रोक सकता है?

संबंधित खबरें पढ़ने के लिए क्लिक करें लिंक

सीओ के थप्पड़ मारने पर सैफई महोत्सव में जमकर बवाल

‘मजाक इससे ज्यादा क्या होगा, दुरंगे लोग, तिरंगे की बात करते हैं’

Leave a Reply