बिहार में जारी है फिरौती का पुराना धंधा, मंत्री पर आरोप

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार
बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार बिहार को बदलने के बड़े-बड़े दावे करते हैं, लेकिन हालात नब्बे के दशक जैसे ही नज़र आ रहे हैं। सुहेल अपहरण कांड से यही सिद्ध हो रहा है कि आपराधिक सोच के मामले में बिहार आज भी वैसा ही है।

जी हाँ, गुजरात के उद्योगपति हनीफ हिंगोरा ने अपने अपहृत बेटे के मामले में बिहार के एक मंत्री पर आरोप लगाया है। उनका कहना है कि उन्होंने अपने बेटे को छुड़ाने के लिए 25 करोड़ की फिरौती बिहार में जदयू के एक मंत्री की मौजूदगी में दी है।

इतना ही नहीं, हिंगोरा का दावा है कि सुहेल के अपहर्ता खादी का कुर्ता-पायजामा पहनते थे। गिरोह का सरगना बिहार का है और उसे राजनीतिक संरक्षण प्राप्त है, साथ ही वह 1991 में अविभाजित बिहार की एक लोकसभा सीट से चुनाव भी लड़ चुका है। हालांकि बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इसकी उच्चस्तरीय जांच कराने का आदेश दिया है, लेकिन सवाल यह उठता है मंत्री स्तर का व्यक्ति अपहरण में शामिल है, तो बिहार में बदला क्या?

Leave a Reply