बरेली के दरिंदों ने 15 माह और 8 वर्ष की बच्चियों को रौंदा

बरेली के दरिंदों ने 15 माह और 8 वर्ष की बच्चियों को रौंदा
बरेली के दरिंदों ने 15 माह और 8 वर्ष की बच्चियों को रौंदा

बरेली वालों के लिए बड़ी ही शर्मनाक खबरें हैं। यहाँ के एक दरिंदे ने एक वर्ष तीन माह की फूल सी बच्ची को दिल्ली में रौंद दिया, वहीं दूसरे दरिंदे भाई ने हवस का शिकार बनाने के बाद आठ वर्ष की ममेरी बहन को मौत के घाट उतार दिया। दोनों ही घटनाओं की कड़ी निंदा की जा रही है।

दिल्ली के शंकर विहार में रहने वाले एक सफाई कर्मचारी की पन्द्रह महीने की बच्ची को बरेली के एक दरिंदे जगदीश ने अपनी हवस का शिकार बना डाला। दुष्कर्म की शिकार बच्ची की मां एक कैप्टन के घर सफाई का काम करती है और यहीं दरिंदा जगदीश भी काम करता है। बताया जाता है कि शुक्रवार को बच्ची के पिता घर पर नहीं थे और बच्ची के सोने के कारण माँ शाम को घर में आगे से ताला लगा कर पास में रहने वाली ननद के घर कपड़े धुलवाने चली गई, इसी बीच दरिंदे जगदीश ने बच्ची को अपनी हवस का शिकार बना डाला। लगभग आधे घंटे बाद मां वापस लौटी, तो बच्ची की हालत देख कर उसके होश उड़ गये। पुलिस ने दुष्कर्म व पॉक्सो के अंतर्गत मुकदमा दर्ज करने के बाद जगदीश की रासानायिक जांच कराई, तो उसके हाथों पर बच्ची के खून के निशान पाये गये, जिससे उसे तत्काल गिरफ्तार कर लिया गया, वहीं बच्ची के बारे में डाक्टर का कहना है कि उसकी हालत बेहद गंभीर है, साथ ही संभावना जताई है कि बच्ची के गुप्तांग में किसी तरह की वस्तु डाली गई है, क्योंकि उसके अंदर अंग क्षतिग्रस्त हैं।

इसी तरह बरेली जिले में शेरगढ़ क्षेत्र के गाँव बैरम नगर निवासी आठ वर्ष की एक बच्ची को उसके ममेरे भाई ने हवस का शिकार बनाने के बाद मौत के घाट उतार दिया। बताया जाता है कि बच्ची 15 नवंबर की शाम दरिंदे भाई के साथ साथ मेला देखने गई थी, जब वापस नहीं लौटी, तो परिजनों को चिंता हुई। परिजनों की शिकायत पर पुलिस ने आरोपी से पूछताछ की, तो सनसनीखेज घटना का खुलासा हुआ। शराब के नशे में धुत दरिंदे ने बलात्कार के बाद हत्या कर बच्ची का शव बहगुल नदी में फेंक दिया।

One Response to "बरेली के दरिंदों ने 15 माह और 8 वर्ष की बच्चियों को रौंदा"

  1. Prashant Pandey   November 17, 2013 at 11:26 PM

    Hey Bhagwan…I am speechless

    Reply

Leave a Reply