प्रणब के राष्ट्रपति बनने पर संकट के बादल

राष्ट्रपति पद के लिए उम्मीदवारी हासिल करने के बाद पूर्व वित्त मंत्री प्रणब मुखर्जी की खुशियों पर संकट के बादल मंडरा रहे हैं। एनडीए समर्थित उम्मीदवार पीए संगमा प्रणब को राष्ट्रपति पद पर आसीन होने से रोकने में कोई कसर नहीं छोड़ रहे हैं। जनता पार्टी के अध्यक्ष सुब्रमण्यम स्वामी ने भी संगमा का काम आसान करने की कोशिश करते हुए प्रणव के नॉमिनेशन पर सवाल उठा दिए हैं।

संगमा का कहना है कि प्रणव लाभ के पद पर हैं, इसलिए राष्ट्रपति पद के लिए उनका नॉमिनेशन रद्द कर दिया जाना चाहिए। संगमा ने राज्य सभा में शिकायत दर्ज कराई है। अब सभी की नजरें राज्य सभा महासचिव पर हैं। वह ही इस पर स्थिति साफ करेंगे। गौरतलब है कि प्रणव भारतीय साख्यिकी संस्थान के चेयरमैन हैं। मगर प्रणब की ओर से कांग्रेस ने सफाई पेश करते हुए कहा है कि उन्होंने 24 जून को नामांकन दाखिल करने से पहले ही 20 जून को भारतीय साख्यिकी संस्थान के चेयरमैन पद से इस्तीफा दे दिया था। भारतीय साख्यिकी संस्थान ने भी स्पष्टीकरण देते हुए कहा है कि प्रणब ने 20 जून को इस्तीफा दे दिया था। हालांकि संस्थान की वेबसाइट पर आज दोपहर दो बजे तक प्रणब को संस्थान के अध्यक्ष पद पर बताया गया था। लेकिन इस मुद्दे पर विवाद के बाद संस्थान ने वेबसाइट से प्रणब का नाम [तस्वीर में] हटा लिया है। प्रणब मुखर्जी स्वयं इस मामले में कल लिखित जवाब दाखिल करेंगे।

सुब्रमण्यम स्वामी ने भी प्रणव के नॉमिनेशन पर सवाल उठाया है। उन्होंने सवाल किया है, क्या प्रणव का नॉमिनेशन रद्द होगा? स्वामी ने ट्विटर पर लिखा है, नॉमिनेशन फॉ‌र्म्स की जाच अचानक कल तक स्थगित कर दी गई है। यह भी असंवैधानिक है। उन्होंने इशारों-इशारों में कहा है कि अब देखते हैं सोनिया गाधी क्या करती हैं?

उधर संसदीय कार्यमंत्री पीके बंसल ने पीए संगमा के दावे को खारिज करते हुए कहा कि संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन [संप्रग] के राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार प्रणब मुखर्जी लाभ के पद पर नहीं है। बंसल ने कहा कि प्रणब भारतीय सांख्यिकीय संस्थान के अध्यक्ष पद से एक हफ्ते पहले ही इस्तीफा दे चुके हैं। गौरतलब है कि राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार संगमा ने राष्ट्रपति चुनाव के अधिकारी से मांग की थी कि प्रणब का नाम रद किया जाए, क्योंकि वह भारतीय सांख्यिकीय संस्थान के अध्यक्ष की हैसियत से लाभ के पद पर आसीन हैं। राष्ट्रपति पद के चुनाव के नामांकन पत्रों की जांच का सोमवार को आखिरी दिन है। 19 जुलाई को राष्ट्रपति पद का चुनाव है, जिसके नतीजा 23 जुलाई को आएगा।

Leave a Reply