पोस्टिंग के लिए खुद सांसद धर्मेन्द्र यादव बन गया सिपाही

पोस्टिंग के लिए खुद सांसद धर्मेन्द्र यादव बन गया सिपाही
पोस्टिंग के लिए खुद सांसद धर्मेन्द्र यादव बन गया सिपाही

उत्तर प्रदेश में गाजियाबाद के थाना मसूरी में तैनात सिपाही मुनीर अहमद बदायूं के सांसद धर्मेन्द्र यादव के नाम से फोन कर पुलिस अधिकारियों पर पोस्टिंग के लिए दबाव बनाता था। वह मूल रूप से बदायूं के ही कस्बा इस्लामनगर का रहने वाला है। गाजियाबाद के एसएसपी ने उसे निलंबित कर जांच बैठा दी है।

उल्लेखनीय है गाजियाबाद के मसूरी थाने में तैनात मुनीर अहमद सैफई से सपा सांसद धर्मेद्र यादव के नाम से पुलिस अधीक्षक ग्रामीण जगदीश शर्मा, सीओ सदर राजेश पांडे और मसूरी के थाना प्रभारी सुबोध सक्सेना को फर्जी फोन कराता था। कभी थानाध्यक्ष का हमराह बनने तो कभी एसओजी में तैनात करने का दबाव बनाता था। शक होने पर एसएसपी ने सांसद धर्मेन्द्र यादव से बात की, तो उन्होंने फोन करने से मना कर दिया। इसके बाद एसएसपी ने संबंधित नंबर सर्विलांस पर लगवा दिया, तो खुलासा हो गया कि वह सब फोन खुद मुनीर ही करता था। एसएसपी धर्मेद्र सिंह ने सिपाही को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है और जांच के आदेश दे दिए हैं। उक्त सिपाही बदायूं जिले के ही कस्बा इस्लामनगर का रहने वाला है, जिससे इस्लामनगर में पूरा प्रकरण चर्चा का विषय बना हुआ है।

Leave a Reply