पुलिस की सक्रियता के बावजूद अपराधी बेखौफ

 हत्या, लूट और चोरी की वारदातों से बन रहा दहशत का माहौल

बदायूं में आपराधिक वारदातें लगातार बढ़ती जा रही हैं, जिससे आम आदमी के चेहरे पर दहशत की लकीरें साफ झलकने लगी हैं। हालात इतने खराब हो चले हैं कि ग्रामीण क्षेत्रों में देर शाम होते ही लोग घरों की ओर लौटने लगे हैं, वहीं शहरी क्षेत्र में भी रात में चलने से लोग कतराने लगे हैं। राहजनी, झपटमारी और लूट के साथ हत्या की वारदातें पुलिस रोक पाने में अब तक नाकाम ही नजर आ रही है। हालांकि पुलिस सक्रियता बनाये हुए है, पर अपराधियों में पुलिस का खौफ दूर तक नजर नहीं आ रहा है। पिछले एक सप्ताह की कुछ प्रमुख वारदातों पर एक नजर डालें, तो अपराधी हर क्षेत्र में वारदातों को अंजाम देने में कामयाब रहे हैं। कस्बा वजीरगंज में मंगलवार की रात करीब दो बजे आधा दर्जन हथियारबंद बदमाश ग्रीन हाउस के पीछे रहने वाले कमाल के घर में घुस गये और सो रहे पुरुष व महिलाओं को उठा कर अपने कब्जे में ले लिया। कमाल के पुत्र भूरा व पिंकू, भूरा की पत्नी गुडिय़ा, पिंकू की पत्नी नेती और कमाल की पुत्री पिंकी को डंडों से बुरी तरह पीटा। इसके बाद महिलाओं के गले से चांदी के खंडुवे, सोने के कुंडल, कुंदनी व नथ आदि आभूषणों के साथ 66 हजार रुपये भी ले गये, साथ ही पड़ोसी गोपी की पत्नी मिथलेश व ममता आदि को भी बदमाशों ने पीटा। इन घरों से भी बदमाश आभूषण लूट ले गये। बिसौली कोतवाली क्षेत्र के कर्रावारा गांव में जनपद रामपुर के ओसी निवासी तसब्बुर शादी के कार्ड बांटने आया था। लौटते समय शाम साढ़े सात बजे सिरसावा गांव के पास दो बाइकों पर सवार चार बदमाशों ने उसे रोक लिया और कनपटी पर तमंचा तानकर बाइक और नकदी लूट ली। बिसौली कोतवाली क्षेत्र के ही गांव पैगा भीकमपुर में सनसनीखेज वारदात को अंजाम दिया गया। मंगलवार की रात दो बजे जमुना प्रसाद ने अपने सगे भाई श्याम सिंह को संपत्ति विवाद के चलते मौत के घाट उतार दिया। बिनावर थाना क्षेत्र के गांव रहमा निवासी रज्जाक के घर रात में करीब एक बजे जीने के सहारे चोर घर में घुस गये और कमरे में रखी सेफ तोड़ ली। उसमें से तीस हजार की नकदी व सोने-चांदी के आभूषण निकाल ले गये। बिसौली कस्बे के पठानटोला में भी नसीर के घर में सोमवार की रात को चोर घुस गये। पूरा परिवार छत पर सो रहा था। घर में रखे कपड़े जेवर नकदी सहित पचास हजार रुपये का सामान चोर ले गये। सदर कोतवाली क्षेत्र के मोहल्ला मौलवी टोला निवासी ज्ञानेंद्र पांडेय की पैशन प्रो बाइक पड़ोस के मिर्जाटोला मुहल्ले से चोरी हो गई। सिविल लाइन थाना क्षेत्र की मधुवन कालोनी निवासी अनूप डिश केबिल संचालक हैं। कालोनी के ही चंद्रपाल के घर डिश नहीं आ रही थी, तो वह शिकायत करने अनूप के पास गए थे। वहां बात ही बात में चंद्रपाल की अनूप व उनके साथी सतीश से लड़ाई हो गई। बस, इतनी बात पर दोनों पक्षों में फायरिंग हो गई। घटना में चंद्रपाल घायल हो गया। कुंवरगांव थाना क्षेत्र में दवा लेने जा रहे दंपती को बदमाशों ने दिनदहाड़े लूट लिया। गांव अर्सिस निवासी पीयूष गुरुवार को अपराह्न करीब दो बजे बाइक से पत्नी कमलेश को दवा दिलवाने कुंवरगांव जा रहा था। इसी दौरान क्षेत्र के ही धर्मपुर मोड़ के पास तीन अज्ञात बदमाशों ने रोड पर आकर बाइक को रुकवाया और बदमाशों ने तमंचा निकालकर उसकी कनपटी पर रख दिया। पीयूष से पांच सौ रुपये की नगदी और कमलेश से सोने के कुंडल लूट लिए। सिविल लाइन थाना क्षेत्र में एक विवाहिता को ससुराल वालों ने इतना पीटा की इलाज के दौरान उसकी मौत हो गयी। बरेली के गांव गजनेरा निवासी श्याम बिहारी ने अपनी बेटी राजकुमारी की शादी सिविल लाइन थाना क्षेत्र के गांव पड़ौआ निवासी रूप सिंह के साथ चौदह वर्ष पहले की थी। आरोप है कि शादी के कुछ समय बाद से ही रूप सिंह और उसके परिवार वाले राजकुमारी को आए दिन मारते पीटते थे। गुरुवार को उसकी पत्नी रामदेई राजकुमारी से मिलने पड़ौआ आई थी, जहां उसकी पत्नी के सामने ही रूप सिंह और उसके परिवार वालों ने लाठी-डंडों से पीटकर उसकी बेटी को घायल कर दिया। उसने अपनी बेटी को बरेली के निजी अस्पताल में भर्ती कराया, जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। शहर की मीराजी चौकी के पास रहने वाले अखिलेश अग्रवाल दो दिन पहले परिवार समेत एक शादी समारोह में शामिल होने कासगंज गए थे। घर खाली होने का फायदा उठाते हुए चोरों ने ताला तोड़ कर अलमारी में रखी 96 हजार की नकदी और जेवरात समेत लगभग डेढ़ लाख रुपये का सामान चोरी कर लिया। शहर की प्रोफेसर कालोनी निवासी कपड़ा व्यवसायी परिवार में संपत्ति की खातिर देवर ने अपनी भाभी को ही मौत के घाट उतार दिया। इंद्रेश रस्तोगी के तीन पुत्र मयंक, अमित और निहित हैं। शहर में अलग-अलग गारमेंट्स शोरूम चलाते हैं। श्यामलाल सर्राफ के बराबर वाली कोठी में सभी लोग रहते हैं। निहित कोठी के सबसे अगले हिस्से में तो मयंक पिछले हिस्से में परिवार समेत रहते हैं। परिवार में पिछले कई साल से संपत्ति को लेकर विवाद चल रहा था, लेकिन तमाम समझौते निहित को संतुष्ट नहीं कर सके थे। गुरुवार की सुबह नौ बजे मयंक अपनी दुकान पर जाने की तैयारी में थे, तभी निहित गालियां देता हुआ दरवाजे पर आया। इसके बाद मयंक और उनकी पत्नी डा. वीणा रस्तोगी (35) मकान की बालकनी में पहुंचे। यहां निहित ने तमंचे से फायर किया, जो वीणा के सीने में जा लगा। दूसरा फायर भाई मयंक को निशाना बनाकर किया गया, जिससे वह बाल-बाल बच गया। परिजन वाणी को जिला अस्पताल ले गये, वहां डाक्टर्स ने उसे मृत घोषित कर दिया। बिसौली में रविवार की रात ग्राम सिचौली निवासी सचिव रमेश चंद्र यादव का पुत्र अनिल यादव स्पलेंडर बाइक से हलवाई सन्नी को बिसौली पहुंचाने आ रहा था। गांव से निकलते ही रस्सा बांधकर मार्ग अवरुद्ध कर रहे बदमाशों ने उन्हें रोक लिया। बाइक रुकते ही बदमाशों ने अनिल की कनपटी पर तमंचा लगा दिया और मारपीट कर बदमाश स्पलेंडर बाइक, दो मोबाइल एवं छह हजार रुपये लूटकर ले गए। शहर के मोहल्ला मौलवी टोला निवासी आशू (19) पुत्र आफाक हुसैन पड़ोस के मोहल्ला नागरान में मैंथा प्लांट पर काम कर रहा था, इसी दौरान उसकी के मोहल्ले का सटोरिया कासिफ वहां आया। उसके साथ मौलवी टोला का वसीम व सोथा का आजम भी था। इन लोगों ने पहले आशू से झगड़ा किया और विरोध करने पर फायर कर दिया। गोली उसके पैर में लग ही गई। इससे वह घायल होकर गिर पड़ा। पुलिस ने कुछ गंभीर घटनाओं का खुलासा करते हुए आरोपियों को पकड़ कर व उन्हें जेल भेज कर सराहनीय कार्य भी किया है। बावजूद इसके अपराधों पर अंकुश नहीं लग पा रहा है।

Leave a Reply