परेशान न कर दे सपा की ‘देश बचाओ, देश बनाओ’ रैली

  • युद्ध स्तर पर चल रही हैं तैयारियां
बरेली के इस्लामियां इंटर कॉलेज के मैदान में मंच व बैरीकेटिंग बनाते मजदूर
बरेली के इस्लामियां इंटर कॉलेज के मैदान में मंच व बैरीकेडिंग बनाते मजदूर

बरेली में नौ नवंबर को आयोजित होने वाली समाजवादी पार्टी की ‘देश बचाओ, देश बनाओ’ रैली की तैयारियां युद्ध स्तर पर चल रही हैं। इस्लामियां इंटर कॉलेज के मैदान में मजदूर जुटे हुए हैं, वहीं बरेली सहित आसपास के जिलों के छोटे-बड़े नेता भीड़ जुटाने के प्रयास में जुटे नज़र आ रहे हैं। जिला स्तरीय नेताओं के लिए करो या मरो के रूप में शक्ति प्रदर्शित करने का लक्ष्य दिया गया है, क्योंकि नरेंद्र मोदी की विशाल रैलियों के चलते सपा की प्रतिष्ठा जुड़ी हुई है। इस रैली को सपा बेहद गंभीरता से ले रही है, तभी बदायूं के सांसद धर्मेन्द्र यादव को रैली का संयोजक बनाया गया है। रैली में मुख्य वक्ता के रूप में सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव ही होंगे, साथ ही मुख्यमंत्री अखिलेश यादव भी प्रमुख रूप से मौजूद रहेंगे, उनके साथ अन्य तमाम वरिष्ठ नेता रैली में आयेंगे। पिछले दिनों बरेली के सपा कार्यालय में आयोजित 13 जनपदों के पदाधिकारियों की बैठक में धर्मेन्द्र यादव ने पांच लाख लोगों को जुटाने का लक्ष्य दिया था।

मंच की ओर जाने वाला रास्ता बन कर तैयार
मंच की ओर जाने वाला रास्ता बन कर तैयार

बरेली के इस्लामियां इंटर कॉलेज के मैदान में मंच आदि बनाने का कार्य कर रहे मजदूरों का कहना है कि पचास हजार कुर्सियां डाली जायेंगी, जिसके बाद चार-पांच लाख लोगों के बैठने के लिए स्थान नहीं बचेगा, ऐसे में सवाल यह उठता है कि लक्ष्य के अनुसार भीड़ आ गई, तो उस भीड़ को संभाला कैसे जायेगा, क्योंकि हर कोई पंडाल के अंदर आने का प्रयास करेगा और मैदान की क्षमता पांच लाख लोगों को संभालने की नहीं है। इसके अलावा इस्लामियां इंटर कॉलेज के आसपास की तो बात ही छोड़िये, दूर-दूर तक पार्किंग की कोई व्यवस्था नहीं है। एक जिले से पांच सौ बसें और कारें आईं, तो 13 जिलों से छः हजार से अधिक वाहन आयेंगे, लेकिन भीड़ के लक्ष्य के अनुपात में वाहनों की संख्या कई गुना अधिक हो सकती है, जिन्हें खड़ा कराना भी अपने में एक चुनौती से कम नहीं होगा, इसके अलावा वाहन दूर रोके गये, तो उन वाहनों से आने वाली भीड़ को कार्यक्रम स्थल पर पैदल ही आना पड़ेगा, जिससे चारों दिशाओं में अफरा-तफरी का माहौल हो सकता है। इस्लामियां इंटर कॉलेज का मैदान बीच शहर में हैं, इसलिए चारों दिशाओं से भीड़ आयेगी, जिससे बाजार जाम होने की पूरी संभावना है। ऐसा कुछ हुआ, तो आम आदमी को वाकई बेहद परेशानी होगी, जिससे निपटने के प्रयास समाजवादी पार्टी के नेताओं को अभी से करने होंगे।

संबंधित खबर पढ़ने के लिए क्लिक करें लिंक

सपा की रैली को सफल बनाने के निर्देश, पांच लाख लक्ष्य

बरेली के इस्लामियां इंटर कॉलेज के मैदान में मंच व बैरीकेटिंग बनाते मजदूर
बरेली के इस्लामियां इंटर कॉलेज के मैदान में मंच व बैरीकेडिंग बनाते मजदूर

Leave a Reply