निर्माण कार्यों की धीमी गति पर आयुक्त खफा

  • कार्य में शिथिलता पर होगी कड़ी कार्रवाई, कार्यदायी संस्था सीएनडीएस तथा पैकपेड के अधिकारी रहे निशाने पर
  • विकास कार्यों की गहन समीक्षा के बाद आयुक्त ने देखा ओवर ब्रिज, गभ्वाई राजकीय इंटर कालेज का निर्माण कार्य
निरीक्षण करते हुए मण्डलायुक्त शिव शंकर सिंह
निरीक्षण करते हुए मण्डलायुक्त शिव शंकर सिंह

बदायूं में बरेली मण्डल के मण्डलायुक्त शिव शंकर सिंह ने निर्माण कार्यो की सुस्त गति पर नाराजगी व्यक्त करते हुए कार्यों में तेजी लाने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि विकास कार्य पिछड़ने पर सम्बंधित अधिकारियों के साथ रियायत की कोई गुंजाइश नहीं है। कार्यदायी संस्था सीएनडीएस को एक पखवाड़े की मोहलत के साथ आयुक्त ने कार्यदायी संस्था पैकपेड के अधिकारी के निलम्बन हेतु लिखने को कहा है।
विकास भवन स्थित सभा कक्ष में आयुक्त ने विकास कार्यों की समीक्षा के दौरान पाया कि धनराशि की उपलब्धता के पश्चात भी तमाम कार्य अपूर्ण हैं जिनको अब तक पूरा किया जा सकता था, परन्तु वह अभी तक पूर्ण नहीं हुए हैं, इस पर उन्होंने नाराजगी जताई और निर्देश दिए कि कार्यों में तेजी लाई जाए। उन्होंने अधिकारियों से अपेक्षा की कि यदि किसी कार्य को पूर्ण कराने में किसी प्रकार अथवा शासन स्तर से सहायता की आवश्यकता हो, तो उसको स्पष्ट तौर पर बताया जाए, ताकि उसका समाधान कराया जा सके। कार्य दायी संस्था सीएनडीएस तथा पैकपेड की निर्माण कार्यों की धीमी गति पर असंतोष व्यक्त करते हुए सीएनडीएस के प्रोजेक्ट मैनेजर को सुधार हेतु एक पखवाडे़ की मोहलत देकर निर्माण कार्यों में सुधार लाने की चेतावनी देते हुए कहा कि यदि निर्धारित अवधि में सुधार न पाया जाता है, तो जिलाधिकारी सीपी त्रिपाठी उन्हें अवगत कराएं, ताकि उनके खिलाफ कार्रवाई अमल में लाई जा सके। बैठक में पैकपेड के वरिष्ठ अधिकारी के उपस्थित न होने तथा कार्य संतोष जनक न पाए जाने पर आयुक्त ने बैठक में मौजूद अभियन्ता के निलम्बन हेतु लिखने के निर्देश दिए हैं।

आयुक्त ने वर्ष 2012-13 एवं 2013-14 के चयनित लोहिया ग्रामों की विस्तृत समीक्षा करते हुए निर्देश दिए कि गांव में जो भी कार्य अवशेष हैं, उनको प्राथमिकता के आधार पर पूर्ण कराकर लोहिया ग्रामों को पूर्ण रूप से संतृप्त किया जाए। इसके अलावा आयुक्त ने लोक निर्माण विभाग, मण्डी परिषद, के निर्माण कार्य, बाढ़ खण्ड द्वारा कराए गए कार्य, इंदिरा आवास, पेयजल, विद्युतीकरण सॉलिड वेस्ट मैनेजमेन्ट प्लान, पशुओं को टीकारण, बेरोजगारी भत्ता, कन्या विद्याधन, लैपटाप वितरण, मत्स्य पालन हेतु तालाबों का आवंटन, आपूर्ति, विभिन्न पेंशन आदि की गहन समीक्षा की।
आयुक्त ने शहरी और ग्रामीण क्षेत्र में विद्युत आपूर्ति के सम्बन्ध में जानकारी चाही, तो सम्बंधित अभियन्ता द्वारा शहरी क्षेत्र में 15 तथा ग्रामीण क्षेत्र में 10 घण्टे आपूर्ति की जानकारी दी, जिस पर आयुक्त ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्र में मात्र चार से पांच घण्टे की आपूर्ति मिलने की जानकारी गांव वालों ने उन्हें दी है, इसलिए इसमें सुधार किया जाना सुनिश्चित किया जाए।
तत्पश्चात आयुक्त ने ककराला रोड स्थित निर्माणाधीन राजकीय इंटर कालेज का मौका मुआयना कर किए गए कार्य पर संतोष व्यक्त करते हुए कार्य को शीघ्र पूरा कराने के निर्देश दिए हैं। आयुक्त ने रेलवे क्रासिंग पर बन रहे ओवर ब्रिज का भी स्थलीय निरीक्षण किया। कार्यदायी संस्था सेतु निगम के अधिकारी ने आयुक्त को अवगत कराया कि उनके द्वारा 12 पिलर में 10 पिलर का निर्माण किया जाना है और दो रेल विभाग द्वारा बनाए जाएंगे। उन्होंने बताया कि उनके द्वारा दस में नौ पिलर का कार्य लगभग पूरा हो चुका है और कुछ कार्य में विद्युत लाइन शिफ्टिंग के कारण व्यवधान आ रहा है। आयुक्त ने जिलाधिकारी श्री त्रिपाठी से रेलवे विभाग के सम्बन्ध में तथा विद्युत लाइन हटाने हेतु त्वरित कार्रवाई कराने को कहते हुए कार्यदायी संस्था के अधिकारी को कार्य की गति बढ़ाने के निर्देश दिए हैं। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी जयन्त कुमार दीक्षित सहित अन्य जिला स्तरीय अधिकारी मौजूद रहे।

नालों की उचित सफाई न होने से आयुक्त नाखुश
बरेली मण्डल के मण्डलायुक्त शिव शंकर सिंह ने अपने भ्रमण के दौरान नगर पालिका परिषद बदायूं तथा तहसील सदर का निरीक्षण करने के साथ सभासदों तथा तहसील में जनता की समस्याओं को सुना। नगर पालिका में ईओ के कमरे में फर्श पर सीलन पाए जाने पर नाराजगी जताते हुए मरम्मत कराने के निर्देश दिए हैं।
श्री सिंह ने जिलाधिकारी सीपी त्रिपाठी के साथ सर्व प्रथम नगर पालिका परिषद बदायूं पंहुचकर विभिन्न पटलों का अलग-अलग कमरे में जाकर निरीक्षण करने के साथ अभिलेखों का भी मुआयना किया। वाटर टैक्स की वसूली कम पाए जाने पर नाराजगी जताते हुए वसूली बढ़ाने के निर्देश दिए हैं। आयुक्त ने कहा कि नगर पालिका परिषद में अध्यक्ष, जेई के कार्यालय के अलावा शेष कक्षों की स्थिति ठीक नहीं है इसमें मरम्मत एवं साफ सफाई  आदि का कार्य कराकर सुन्दर बनाया जाए। आयुक्त ने सभासदों से मिलकर उनकी समस्याओं को सुना तो उन्होंने नालों की उचित सफाई न होने के कारण शहर में जल भराव के साथ ही बैकलॉक कर्मियों द्वारा स्ंवय कार्य न करने जैसी शिकायतों से आयुक्त को अवगत कराया। आयुक्त ने नालों की सफाई व्यवस्था पर गहरी नाराजगी जताते हुए सीएसआई के कार्य पर असंतोष व्यक्त किया और कहा कि यदि सुधार न हुआ तो उनको यहां से हटाने की कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। इसके बाद आयुक्त ने तहसील सदर का रिकार्ड रूम सहित, वसूली तथा खसरा खतौनी आदि जारी  करने की प्रक्रिया के सम्बन्ध में जानकारी हासिल करते हुए अन्य अभिलेखों का भी गहन मुआयना किया । उन्होने राजस्व वसूली की भी जानकारी ली। तहसील सदर में पूर्व से मौजूद लोगों की शिकायतों को भी सुनकर उनसे प्राप्त समस्याओं को त्वरित निस्तारण के निर्देश दिए हैं। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी जयन्त कुमार सहित अन्य अधिकारीगण मौजूद रहे।

Leave a Reply