नर कंकाल मिलने पर उत्तराखंड के मंत्री ने दिया निंदनीय बयान

किरन कांत

केदार घाटी में बिखरे नर कंकालों में से दिल दहला देने वाला एक दृश्य
केदार घाटी में बिखरे नर कंकालों में से दिल दहला देने वाला एक दृश्य

उत्तराखंड के केदारनाथ में 16 जून को आई भीषण आपदा में देश भर के हजारों लोग मारे गये थे। सरकार ने परिजनों को उस समय आश्वस्त किया था कि मृतकों के शव खोज कर विधि-विधान पूर्वक दाह-संस्कार करा दिया गया है, लेकिन बर्फ पिघलने के बाद केदार घाटी में नर कंकाल सामने आ रहे हैं। सरकार की घोर लापरवाही का सच जनता के सामने आ गया है, वहीं एक वर्ष पुराने दर्द को किसी तरह भूलने के प्रयास में लगे मृतकों के परिजनों का दर्द एक बार फिर ताज़ा हो गया है। नर कंकाल मिलने की खबर पर तमाम परिजन घाटी में पहुंच रहे हैं और सरकार की अनुमति लेकर स्वयं वस्तुओं के माध्यम से अपने परिजनों के कंकाल की पहचान करने के प्रयास कर रहे हैं।

लापरवाही पर दुःख जताने और गलती में सुधार करने की जगह कैबिनेट मंत्री दिनेश अग्रवाल बेशर्मी वाला बयान दे रहे हैं। उनका कहना है कि बारिश का इंतजार है, जिसके बाद सब कुछ स्वतः सही हो जायेगा, साथ ही कहा कि सरकार ने हत्या थोड़े ही कराई हैं। व्यवस्थाओं के सवाल पर बोले कि सरकार का काम यात्रा शुरू कराना था, जो शुरू करा दी गई है।

उधर जनजागृति मिशन हरिद्वार में मृतकों की आत्मा की शांति के लिए 16 जून को एक आयोजन करने जा रहे जा रहा है, जिसमें मृतकों के परिजन भी भाग लेंगे। उत्तराखंड सरकार की लापरवाही पर मृतकों के परिजन केंद्र सरकार से हस्तक्षेप की भी आशा लगाये हुए हैं, लेकिन अभी तक केंद्र सरकार ने नर कंकाल मिलने की घटना पर ध्यान तक नहीं दिया है।

संबंधित खबर पढ़ने के लिए क्लिक करें लिंक

नर कंकाल मिलने से उत्तराखंड शासन-प्रशासन में हडकंप

Leave a Reply