नई समाजवादी पेंशन योजना शीघ्र ही लागू होगी: मुख्यमंत्री

  • प्रदेश सरकार ने बिना किसी भेदभाव के समाज के हर वर्ग के कल्याण के लिए योजनाएं लागू की हैं: मुख्यमंत्री 
 
 
  • मुख्यमंत्री ने फिरोजाबाद में 5 करोड़ 76 लाख 43 हजार रु0 लागत की परियोजनाओं का शिलान्यास तथा 18 करोड़ 35 लाख 61 हजार रु0 की परियोजनाओं का लोकार्पण किया
जनपद फिरोजाबाद स्थित शिकोहाबाद में आयोजित जनसभा में जनता का अभिवादन स्वीकार करते मुख्यमंत्री अखिलेश यादव, सांसद प्रो. रामगोपाल यादव व सांसद धर्मेन्द्र यादव
जनपद फिरोजाबाद स्थित शिकोहाबाद में आयोजित जनसभा में जनता का अभिवादन स्वीकार करते मुख्यमंत्री अखिलेश यादव, सांसद प्रो. रामगोपाल यादव व सांसद धर्मेन्द्र यादव
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि प्रदेश सरकार ने बिना किसी भेदभाव के समाज के हर वर्ग के कल्याण के लिए योजनाएं लागू की हैं। इसी क्रम में शीघ्र ही लगभग ढाई हजार करोड़ रुपए की एक नई समाजवादी पेंशन योजना लागू की जाएगी। इस प्रकार की यह देश की सबसे बड़ी योजना है। उन्होंने कहा कि घोषणा पत्र में की गई घोषणाओं को तत्परता से पूरा किया गया है। बड़े पैमाने पर लैपटॉप वितरण किया गया तथा बेरोजगारी भत्ता दिया गया है, ताकि गांव के गरीब और किसानों को भी लाभ मिले और नौजवानों में निराशा का भाव न आने पाए। उन्होंने युवाओं का आह्वान किया कि नौजवान मिलकर प्रदेश को आगे बढ़ाने में सहयोग करें।
मुख्यमंत्री आज जनपद फिरोजाबाद स्थित शिकोहाबाद में आयोजित जनसभा को सम्बोधित कर रहे थे। इस अवसर पर उन्होंने 5 करोड़ 76 लाख 43 हजार रुपए लागत की परियोजना/कार्यों का शिलान्यास तथा 18 करोड़ 35 लाख 61 हजार रुपए की परियोजनाओं का लोकार्पण किया। उन्होंने रामलीला मैदान की चहारदीवारी तथा मुस्लिम क्षेत्र में महाविद्यालय बनाने की भी घोषणा की।
श्री यादव ने युवाओं को बधाई देते हुए कहा कि प्रदेश में सर्वाधिक संख्या में नौजवानों की आबादी है। युवाओं ने परिवर्तन लाने का कार्य किया है। उन्होंने महात्मा गांधी का स्मरण करते हुए कहा कि उन्होंने अन्याय और भेदभाव के विरुद्ध सादगी के साथ अहिंसक आन्दोलन चलाकर देश को जगाया। उन्होंने शहीद भगत सिंह व अन्य शहीद क्रान्तिकारियों का भावपूर्ण स्मरण किया। उन्होंने किसानों को सुविधाएं दिए जाने की चर्चा करते हुए कहा कि नहरों का पानी मुफ्त कर दिया गया है। नौजवानों को रोजगार के अवसर मिल रहे हैं। कौशल विकास योजना में अब तक साढे़ छः लाख से अधिक लोगों ने पंजीकरण कराया है। उन्होंने कन्या विद्याधन, रोजगार सृजन, सड़कों के तेजी से निर्माण आदि योजनाओं की चर्चा की। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश दूध उत्पादन में अग्रणी स्थान पर है। सरकार द्वारा डेरी की योजनाएं लागू की जा रही हैं। इस क्षेत्र में कारोबार की बहुत सम्भावना है।
मुख्यमंत्री ने स्वास्थ्य सेवाओं के प्रति वर्तमान सरकार की प्रतिबद्धता की चर्चा करते हुए कहा कि समाजवादी एम्बुलेंस सेवा से दूरस्थ गांवों के लोग लाभ उठा रहे हैं। यह सेवा बेहद लोकप्रिय हुई है। सरकार ने 102 नेशनल एम्बुलेंस सेवा भी प्रारम्भ की है। उन्होंने सरकार द्वारा बिजली उत्पादन के लिये किए जा रहे प्रभावी प्रयासों की जानकारी देते हुए कहा कि इलाहाबाद और ललितपुर में बिजली कारखाने शीघ्र ही शुरू हो जाएंगे। बिजली खरीदने हेतु तीन हजार मेगावाट का समझौता किया गया है। खेती के लिए स्पेशल फीडर तथा तहसीलों पर भी अलग से सब स्टेशन बनाए जा रहे हैं। एम0बी0बी0एस0 पाठयक्रम में 500 सीटें बढ़ाई गई हैं।
श्री यादव ने फिरोजाबाद में पेयजल समस्या के सुधार हेतु बनाई जा रही जेड़ाझाल परियोजना के सम्बन्ध में बताया कि 16 कि0मी0 लम्बाई में खुदाई का कार्य पूर्ण कर लिया गया है। उन्होंने कहा कि सड़क, पुल, बिजली, स्वास्थ्य, शिक्षा सभी क्षेत्रों में कार्य कराए जा रहे हैं। उन्होंने डा. राम मनोहर लोहिया की नीतियों को लागू करने की चर्चा करते हुए कहा कि गांव, गरीब, किसान, नौजवानों, महिलाओं और अल्पसंख्यकों के लिए कल्याणकारी योजनाएं लागू की गई हैं।
कार्यक्रम को सांसद प्रो. रामगोपाल यादव ने भी सम्बोधित किया। उन्होंने सरकार की नीतियों पर प्रकाश डालते हुए कहा कि शीघ्र ही तीन लाख नौजवानों को विभिन्न विभागों में नौकरी दिए जाने की व्यवस्था कर ली गई है। उत्तर प्रदेश में आजादी के बाद वर्तमान सरकार ने सर्वाधिक विकास कार्य किए हैं। इस अवसर पर स्टाम्प तथा न्यायालय शुल्क पंजीयन मंत्री राजा महेन्द्र अरिदमन सिंह, सांसद धर्मेन्द्र यादव, विधायक रामवीर सिंह यादव, विजय सिंह, जिला पंचायत अध्यक्ष रमेश चन्द्र चंचल, अक्षय यादव समेत अन्य जनप्रतिनिधिगण, वरिष्ठ अधिकारी एवं भारी जनसमूह उपस्थित था।

सपा की हाई-फाई रैलियों ने नरेंद्र मोदी की रैलियों को पछाड़ा

Leave a Reply