दिनदहाड़े लूट की वारदात से सनसनी, लुटेरे फरार

सिविल लाइन थाने में घटना की रिपोर्ट दर्ज कराने आये पिता-पुत्र
सिविल लाइन थाने में घटना की रिपोर्ट दर्ज कराने आये पिता-पुत्र

क्राइम का ग्राफ समूचे उत्तर प्रदेश में ही लगातार उछाल ले रहा है, लेकिन सिर्फ जनपद बदायूं की बात की जाये, तो स्थिति और भी भयानक है। दिनदहाड़े लूट की वारदातें आम तौर पर होने लगी हैं, फिर भी शासन-प्रशासन की ओर से घटनाओं को रोकने की दिशा में ख़ास प्रयास नहीं किये जा रहे हैं, जिससे आम आदमी भयभीत नज़र आ रहा है।

जनपद बदायूं के थाना सिविल लाइन क्षेत्र में आज भी व्यापारी पिता-पुत्र बाइक सवार लुटरों के शिकार हो गये। घटना सुबह करीब 11: 30 बजे की है। कस्बा सखानूं निवासी गल्ला व्यापारी विष्णु दयाल और उनके पुत्र चन्दन ने आज ही भारतीय स्टेट बैंक से 1 लाख 24 हजार सौ रूपये निकाले और सीधे बाबूराम मार्केट में आकर टायर खरीदने लगे। पिता दुकानदार से टायर खरीदने की बात कर रहे थे और उनका बेटा चन्दन हाथ में बैग लटकाए खड़ा था, तभी काले रंग की पल्सर बाइक पर सवार दो लड़के अचानक आये और चन्दन के हाथ से बैग छीन कर भाग गये। घटना की सूचना तत्काल पुलिस को दे दी। पूरे जिले में चेकिंग अभियान भी चलाया गया, पर पल्सर सवार दोनों लुटेरे भागने में सफल रहे। घटना को लेकर व्यापारियों ही नहीं, बल्कि आम आदमी भी भयभीत नज़र आ रहा है।

सीमा विवाद में नहीं लिखी गई रिपोर्ट

वारदात के खुलासे की दिशा में गंभीरता से जुटने की जगह घटना स्थल को लेकर सदर कोतवाली और थाना सिविल लाइन के बीच विवाद खड़ा हो गया। विवाद का निपटारा न हो पाने के चलते शाम तक रिपोर्ट दर्ज नहीं हो पाई, जिससे व्यापारी पिता-पुत्र सुबह से थाने में ही बैठे रहे। बाद में अधिकारियों के कहने पर थाना सिविल लाइन में रिपोर्ट करा दी गई।

ड्यूटी की जगह वसूली कर रही पुलिस

जनपद के अधिकाँश थानों में निठल्ले और चापलूस थानेदार तैनात हैं, जिससे अपराधिक प्रवृति के लोगों में पुलिस का भय ही नहीं है। थानों में तैनाती जाति के आधार पर और नेताओं के दबाव में की जा रही है, तभी ड्यूटी की जगह पुलिस वसूली पर अधिक ध्यान दे रही है, इसीलिए हालात लगातार बिगड़ते जा रहे हैं। विधानसभा चुनाव से पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने जनता से यही वादा किया था कि वह भयमुक्त वातावरण बनायेंगे, जिस पर वह अभी तक खरे नहीं उतरे हैं। पुलिस की लापरवाही और नाकामी का दुष्प्रभाव उन्हें लोकसभा चुनाव में देखने को मिल सकता है।

Leave a Reply