तेजतर्रार मुख्यमंत्री ममता बनर्जी का चुनाव आयोग पर हमला

पश्चिम बंगाल की तेजतर्रार मुख्यमंत्री ममता बनर्जी
पश्चिम बंगाल की तेजतर्रार मुख्यमंत्री ममता बनर्जी

मुख्य चुनाव आयुक्त कार्यालय द्वारा पश्चिम बंगाल में पांच पुलिस अधीक्षक, एक डीएम व दो एडीएम के तबादले का आदेश दिया गया है, जिस पर तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख और पश्चिम बंगाल की तेजतर्रार मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने आयोग के विरुद्ध ही मोर्चा खोल दिया है। आयोग को खुली चुनौती देते हुए उन्होंने कहा कि राज्य में कानून व्यवस्था बिगड़ने पर आयोग जिम्मेदारी ले।

उन्होंने कहा कि आप सिर्फ कांग्रेस की ही सुनेंगे, लेकिन कांग्रेस और भाजपा को चुनाव जिताने के लिए आपको मेरा इस्तीफा लेना होगा। ममता बनर्जी ने चुनाव उपायुक्त और बंगाल के प्रभारी विनोद जुत्शी पर भी हमला बोल दिया। कहा कि उनके विरुद्ध गैर जमानती वारंट जारी हो चुका है और सौ एकड़ भूमि घोटाले में सुप्रीम कोर्ट से उन्होंने स्थगनादेश लिया हुआ है। उन्होंने सवाल किया कि ऐसे दागी अधिकारी को बंगाल का प्रभारी क्यूं बनाया गया। बोलीं- वह आयोग की दया से सत्ता में नहीं आई हैं, इसलिए किसी अफसर को नहीं हटायेंगी।

उधर बंगाल के मुख्य चुनाव अधिकारी सुनील गुप्ता का कहना है कि चुनाव की घोषणा के साथ ही किसी भी राज्य का पुलिस व प्रशासनिक अधिकारी चुनाव आयोग के अधीन हो जाता है। संविधान के अनुसार आयोग के निर्देश पर ही अफसर कार्य करेंगे। देखने की महत्वपूर्ण बात यह है कि इस टकराव से अब कौन पीछे हटेगा?

Leave a Reply