जेठमलानी की जीभ काटने वाले को दस लाख इनाम देने की घोषणा

राम जेठमलानी

देश के प्रख्यात वकील और विवादित बयान देने के लिए कुख्यात भाजपा के सांसद राम जेठमलानी की जीभ काट कर लाने वाले को श्री हिंदू न्यायपीठ विधान परिषद ने ग्यारह लाख रुपए इनाम देने का ऐलान किया है। श्री हिंदू न्यायपीठ विधान परिषद पंजाब इकाई के अध्यक्ष प्रवीण डंग ने भाजपा से राम जेठमलानी को पार्टी से अविलंब हटाने की मांग करते हुये दीवाली के बाद भाजपा एवं जेठमलानी के विरुद्ध विरोध प्रदर्शन करने की चेतावनी भी दी है।

भाजपा सांसद राम जेठमलानी ने भगवान श्रीराम पर टिप्पणी की थी, जिस पर देश के संतों ने जेठमलानी से क्षमा मांगने को कहा था, पर उन्होंने क्षमा मांगने से इंकार ही नहीं किया, बल्कि कहा कि मेरी नजर में राम बुरे थे और बुरे रहेंगे, इसलिए माफी मांगने का सवाल ही नहीं उठता। गुरुवार को जेठमलानी ने दिल्ली में स्त्री-पुरुष संबंधों पर लिखी किताब के विमोचन के अवसर पर कहा था कि उनकी नजर में भगवान राम बहुत खराब पति थे। उन्होंने कहा कि वे उन्हें जरा भी पसंद नहीं करते, क्योंकि उन्होंने एक मछुआरे की बात पर बेचारी महिला (सीता) को निर्वासन में भेज दिया था। जेठमलानी ने आगे कहा था कि लक्ष्मण तो और भी बुरे थे। उनकी निगरानी में ही सीता का अपहरण हुआ और जब राम ने उन्हें सीता को ढूंढने के लिए कहा तो उन्होंने यह बहाना बनाया कि वह उनकी भाभी थीं। उन्होंने कभी उनका चेहरा नहीं देखा, इसलिए वह उन्हें नहीं पहचान पाएंगे। जेठमलानी के बयान पर देश भर से तीखी प्रतिक्रियायें आ रही हैं, इसी क्रम में उनकी जीभ काटने वाले को इनाम देने की घोषणा की गई है।

Leave a Reply