जनता की शिकायतों के निस्तारण में विलम्व क्षम्य नहीं: आयुक्त

  • कमिश्नर ने किया डीएम कार्यालय का लोकार्पण
बदायूं में कलेक्ट्रेट परिसर स्थित नव निर्मित जिलाधिकारी कार्यालय और सभा कक्ष का फीता काटकर उद्घाटन करते मण्डलायुक्त गुरुदीप सिंह
बदायूं में कलेक्ट्रेट परिसर स्थित नव निर्मित जिलाधिकारी कार्यालय और सभा कक्ष का फीता काटकर उद्घाटन करते मण्डलायुक्त गुरुदीप सिंह

बरेली मण्डल के मण्डलायुक्त गुरदीप सिंह ने बदायूं पहुंचकर कलेक्ट्रेट परिसर स्थित नव निर्मित जिलाधिकारी के कार्यालय और सभा कक्ष का फीता काटकर उद्घाटन किया। मण्डलायुक्त श्री सिंह सर्व प्रथम लोक निर्माण विभाग के निरीक्षण भवन पहुंचे और उसके बाद कलेक्ट्रेट आकर कार्यदायी संस्था सीएनडीएस द्वारा बनाई गई इमारत का डोरी खींचकर तथा जिलाधिकारी के कार्यालय का फीता काटकर लोकार्पण किया। नव निर्मित भवन की व्यवस्था को देखकर मण्डलायुक्त ने मुक्त कंठ से प्रसंशा करते हुए सुव्यवस्थित ढ़ंग से कराई गई तैयारियों के सम्बन्ध में कहा कि इसके लिए जिलाधिकारी सीपी त्रिपाठी बधाई के पात्र हैं।
मण्डलायुक्त के जनपद में पहली बार पधारने पर सर्व प्रथम लोक निर्माण विभाग के निरीक्षण भवन में गॉड आफ ऑनर के पश्चात कलेक्ट्रेट में पहुंचने पर जिलाधिकारी सीपी त्रिपाठी, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक दलवीर सिंह यादव एवं मुख्य विकास अधिकारी ने बुकें भेंट कर स्वागत किया। तत्पश्चात मण्डलायुक्त व्यस्ततम कार्यक्रम के बीच पत्रकारों से रूबरू होने के बाद वीसी रूम में जाकर कानून व्यवस्था से सम्बंधित मुख्य सचिव की वीडियो कांफ्रेंस में भाग लिया। वीडियो कांफ्रेंस की समाप्ति के बाद बाहर एकत्र जनता की शिकायतों और समस्याओं से सम्बंधित प्रार्थना पत्र लेकर सम्बंधित अधिकारियों से जनता की शिकायतों का निस्तारण कराने हेतु जिलाधिकारी से कहा।
मण्डलायुक्त ने कहा कि जनता की समस्याओं और शिकायतों को नजर अंदाज करने वाले अधिकारी के साथ कोई रियायत नहीं बरती जाएगी। उन्होंने कहा कि सभी अधिकारी नियमित रूप से प्रातः 10 से 12 बजे तक अपने कार्यालय में बैठकर जनता की समस्याओं को सुनकर उनका गुणवत्ता पूर्वक निस्तारण करना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि कार्यालय में नियमित रूप से बैठकर जनता की समस्याओं को न सुनने सम्बंधी शिकायत उन्हें प्राप्त होने पर ऐसे अधिकारियों के विरूद्ध कड़ी कार्यवाही अमल में लाई जाएगी।
मण्डलायुक्त ने इसी प्रकार तहसील दिवसों में प्राप्त होने वाली शिकायतों को भी प्राथमिकता के आधार पर गुणवत्ता सहित निराकरण करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि तहसील दिवसों में प्राप्त होने वाली शिकायतों का हर हाल में निर्धारित अवधि के अन्दर निराकरण किया जाए और किसी भी दशा में तहसील दिवसों में प्राप्त शिकायती पत्र अगले तहसील दिवस के आयोजन तक निस्तारण हेतु लंवित नहीं रहना चाहिए।
उक्त कार्यक्रम में मण्डलायुक्त के साथ जिलाधिकारी सीपी त्रिपाठी, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक दलवीर सिंह यादव, मुख्य विकास अधिकारी जयन्त कुमार दीक्षित, अपर जिलाधिकारी मनोज कुमार, अपर जिलाधिकारी शीलधर यादव, एसपी सिटी मान सिंह चौहान, नगर मजिस्ट्रेट निधी श्रीवास्तव सहित अन्य अधिकारी और कर्मचारीगण मौजूद रहे।

Leave a Reply