छूटे पात्रों को लैपटाप देने की कवायद शुरू

  • डीएम ने जांचकर एसडीएम से एक सप्ताह में तलब की रिपोर्ट
  • बदायूं में इंजीनियरिंग कालेज की स्थापना हेतु भूमि का चिन्हांकन
  • विद्यार्थियों के नाम छोड़ने वाले प्राचार्य के विरूद्ध कार्रवाई की संस्तुति
  • राजकीय पोलीटेनिक की जमीन पर बनाने हेतु शीघ्र भेजा जाएगा प्रस्ताव
विकास भवन में बैठक करते अधिकारीगण
विकास भवन में बैठक करते अधिकारीगण

बदायूं जनपद में प्राप्त 8147 लैपटाप के सापेक्ष शेष 487 लैपटाप के वितरण हेतु जिलाधिकारी सीपी त्रिपाठी ने सभी जोनल मजिस्ट्रेट से जांच कर पात्र तथा लैपटाप सूची में नाम होने के बाद भी छूटे विद्यार्थियों के सम्बन्ध में एक सप्ताह में रिपोर्ट तलब की हैं। श्री त्रिपाठी ने कलेक्ट्रेट के नवनिर्मित सभा कक्ष में बैठक आयोजित कर सभी जोनल मजिस्ट्रेट को निर्देश दिए हैं कि लैपटाप पाने से वंचित पात्र विद्यार्थियों की सघन जांच कर रिपोर्ट उन्हें उपलब्ध कराएं, ताकि शेष लैपटाप का वितरण कराया जा सके। जिलाधिकारी ने कछला स्थित डिग्री कालेज के अपात्र छात्र को लैपटाप मिलने सम्बन्धी जानकारी पर इसकी जांच बरेली के क्षेत्रीय उच्च शिक्षा अधिकारी को सौपीं है। लैपटाप सूची में घपले बाजी के कारण सख्त कदम उठाते हुए बिसौली के दमयन्ती राज आनन्द डिग्री कालेज के प्राचार्य द्वारा 99 छात्र-छात्राओं का नाम सूची में शामिल न करने के कारण उनके खिलाफ कठोर कार्रवाई हेतु शिक्षा विभाग के उच्चाधिकारियों को संस्तुति कर दी है।
जनपद में इंजीनियरिंग कालेज की स्थापना हेतु राजकीय पोलीटेकनिक कालेज की 19 एकड़ भूमि का चिन्हाकन कर लिया गया है जिसके प्रस्ताव हेतु शीघ्र कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी जयन्त कुमार दीक्षित, अपर जिलाधिकारी प्रशासन मनोज कुमार, नगर मजिस्ट्रेट निधी श्रीवास्तव, बरेली मण्डल के क्षेत्रीय उच्च शिक्षा अधिकारी अश्वनी गोयल, जिला सूचना विज्ञान अधिकारी राजेश शर्मा सहित सभी जोनल मजिस्ट्रेट मौजूद रहे।

उधर जिलाधिकारी सीपी त्रिपाठी ने कहा है कि वित्तीय वर्ष 13-14 में पूर्व दशम कक्षाओं में अध्यनरत् तथा दशमोत्तर कक्षाओं का कोई भी पात्र विद्यार्थी छात्रवृत्ति पाने से वंचित न रहने पाए। विकास भवन स्थित सभा कक्ष में जिलाधिकारी ने समस्त इंटर कालेजों के प्रधानाचार्यों की बैठक आयोजित कर शासन के निर्देशानुसार समयबद्ध ढ़ंग से छात्रवृत्ति की कार्रवाई पूर्ण करने के निर्देश देते हुए कहा है कि पूर्व दशम कक्षाओं में अध्यनरत् अनुसूचित जाति/ जनजाति एवं सामान्य वर्ग के छात्र छात्राओं हेतु पूर्व से अध्यनरत विद्यार्थियों को 15 सितम्बर तथा नवीन प्रवेशित विद्यार्थियों के 15 अक्टूबर तक छात्रवृत्ति हेतु आवेदन पत्र कालेजों में प्राप्त किए जाएंगे। अक्टूबर 31 तक शिक्षण संस्थाएं प्राप्त आवेदन पत्रों के आधार पर छात्रवृत्ति की मांग पत्र बीएसए तथा डीआईओएस द्वारा सत्यापन कराकर जिला समाज कल्याण अधिकारी कार्यालय में देंगें। 15 नवम्बर तक जिला समाज कल्याण अधिकारी द्वारा डाटा फीडिंग कार्य किया जाएगा और 15 दिसम्बर को बेबसाइट लॉक कर दी जाने के बाद 15 जनवरी, 2014 से छात्रवृत्ति का वितरण शुरू हो जाएगा। इसी प्रकार दशमोत्तरकक्षाओं में अध्यनरत् अनुसूचित जाति/ जनजाति एवं सामान्य वर्ग के छात्र छात्राओं हेतु 31 दिसम्बर तक आवेदन किया जा सकता हैं। 20 जनवरी, 2014 को शिक्षण संस्थाओं द्वारा प्राप्त आवेदन सम्बंधित विभाग में संस्तुति सहित भेजे जांएगे। इसके बाद विभागीय कार्रवाई पूर्ण होने के बाद 15 मार्च को बेबसाइट लॉक होने के बाद छात्रवृत्ति विद्यार्थियों के बैंक खातों में भेजी जाएगी। इस अवसर पर जिला विकास अधिकारी प्रदीप कुमार सोम, जिला विद्यालय निरीक्षक सुशीला अग्रवाल, जिला सूचना विज्ञान अधिकारी राजेश शर्मा, वित्त एवं लेखाधिकारी ब्रजेश कुमार, जिला समाज कल्याण अधिकारी कुसुम कुमरा सहित सभी विद्यालयों के प्रधानाचार्यगण मौजूद रहे।

Leave a Reply