छावनी नज़र आ रहा है कुंडा क्षेत्र, सीएम भी पहुंचे

– कुंडा क्षेत्र में मेरठ से बुला कर तैनात की फ़ोर्स

– बलीपुर में जाकर पीड़ितों से मिले मुख्यमंत्री

छावनी नज़र आ रहा है कुंडा क्षेत्र, सीएम भी पहुंचे
छावनी नज़र आ रहा है कुंडा क्षेत्र, सीएम भी पहुंचे

रघुराज प्रताप सिंह “राजा भैया” पर लगे आरोपों को राजनैतिक षड्यंत्र मानते हुए राजा भैया के समर्थक बेहद आक्रोशित नजर आ रहे हैं। अहतियातन कुंडा क्षेत्र में भारी पुलिस फ़ोर्स तैनात कर दिया गया है, साथ ही पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी लगातार कैंप किये हुए हैं।

उल्लेखनीय है कि प्रतापगढ़ जिले में हथिगवां थाना क्षेत्र के गाँव बलीपुर में शनिवार को प्रधान नन्हे यादव की हत्या के बाद हुए बवाल में मृतक प्रधान के भाई सुरेश यादव और सीओ कुंडा जियाउल हक की हत्या की भी हत्या कर दी गई थी। मामला तब और गंभीर हो गया जब दिवंगत सीओ की पत्‍‌नी परवीन ने राजा भैया पर अपने पति की हत्या का आरोप मढ़ दिया। मुकदमा दर्ज होने के साथ मंत्रिमंडल से राजा भैया ने इस्तीफा भी दे दिया है एवं मुख्यमंत्री ने दिवंगत सीओ के परिजनों को पचास लाख आर्थिक सहायता देने के साथ घटना की जांच सीबीआई से कराने की सिफारिश कर दी है, इसके बावजूद विपक्षी विधान मंडल और संसद की कार्रवाई नहीं चलने दे रहे हैं और लगातार राजा भैया पर आरोप मढ़ रहे हैं, जिससे राजा भैया समर्थकों में भी आक्रोश पनप रहा है, जो कभी भी हिंसा का रूप ले सकता है। ख़ुफ़िया विभाग की रिपोर्ट के आधार पर प्रशासन ने कुंडा क्षेत्र में भारी पुलिस तैनात कर दी है।

कुंडा कस्बे में नवाबगंज एसओ अरविंद सिंह के साथ कोतवाली की पुलिस और एक कंपनी पीएसी तैनात की गई है। इसके अलावा मेरठ से भी एक कंपनी फ़ोर्स बुलाया गया है। गाँव बलीपुर में मृतक प्रधान नन्हेलाल और सुरेश यादव के घर के आसपास फतनपुर एसओ सभाजीत मिश्र के साथ एक प्लाटून पीएसी, इसी तरह आरोपी कामता पाल के घर के आसपास बाघराय एसओ संतोष सिंह के साथ डेढ़ सेक्शन पीएएसी एवं बलीपुर चौराहे पर लालगंज प्रभारी कुलदीप तिवारी के साथ एक प्लाटून पीएसी तैनात की गई है। बेंती नहर तिराहे पर महेशगंज एसओ निशीकांत राय के साथ एक प्लाटून आरआरएफ के जवान तैनात किए गए है, साथ ही सीओ कुंडा एसएस शुक्ला, सीओ सदर सुधीर जायसवाल, सीओ लालगंज वीरेद्र राय, सीओ पट्टी प्रेमचंद्र और एएसपी के साथ खुद एसपी एलआर कुमार कुंडा में लगातार कैंप किये हुए हैं।

मुख्यमंत्री ने की बीस-बीस लाख देने की घोषणा

उपेक्षा के चलते प्रधान नन्हे यादव के परिजन बेमियादी अनशन पर बैठ गए थे। उनकी मांग थी कि मुख्यमंत्री अखिलेश यादव बलीपुर आएं, अन्यथा वह जहर खाकर जान दे देंगे। मुख्यमंत्री अखिलेश यादव कैबिनेट मंत्री आजम खां के साथ आज नन्हे यादव और सुरेश यादव के घर पहुंच गये। उन्होंने मृतकों के परिजनों को हर संभव मदद देने का आश्वासन दिया। दोनों मृतकों की पत्नियों सुमन देवी और अनारा देवी को 20-20 लाख रूपये देने की घोषणा करते हुए कहा कि वह पीड़ितों के साथ हैं, साथ ही विपक्ष को नसीहत देते हुए बोले कि वह राजनीति न करे।

Leave a Reply