चकबन्दी कार्य तीन माह में पूर्ण कर लें: शिवपाल सिंह

  • सड़कों की गुणवत्ता के सम्बन्ध में लापरवाही किसी भी स्तर से बरदाश्त नहीं होगी: शिवपाल यादव
  • विद्युत विभाग के अधिकारी हर स्थिति में चोरी रोकें तथा लोहिया ग्रामों को प्राथमिकता दें: शिवपाल यादव
शिवपाल यादव
शिवपाल यादव
प्रदेश के लोक निर्माण, सिंचाई, बाढ़ नियन्त्रण विभाग के मंत्री शिवपाल सिंह यादव ने आज मुजफ्फरनगर के विकास भवन में विकास कार्यो की समीक्षा करते हुए सभी अधिकारियों को निर्देश दिये कि जिले की स्थिति सामान्य हो चुकी है, सब अधिकारी अपने विकास कार्यों को सक्रिय होकर शुरू कर दें तथा अपने लक्ष्यों को हासिल करें। लोक निर्माण मन्त्री ने कहा कि वरिष्ठ अधिकारी अपने अधीनस्थों को भी विकास के लक्ष्य सौंप कर कार्यो की गुणवत्ता पर कड़ी नजर रखें। उन्होनें कहा कि डा. राम मनोहर लोहिया ग्रामो में विकास कार्यो को प्राथमिकता अवश्य दें तथा समय से कार्यो को निपटायें।
शिवपाल यादव ने उप निदेशक चकबन्दी को निर्देश दिये कि जनपद में चकबन्दी कार्य को तीन माह में पूर्ण करें तथा जिन ग्रामों में चकबन्दी होनी है, उनको चिन्हित कर तुरन्त कार्य आरम्भ कर दे। उन्होनें कहा कि जनपद में तीन माह के भीतर चकबन्दी कार्य पूर्ण होना चाहिये। मन्त्री ने विभागीय अधिकारियो को कड़े निर्देश दिये कि नई सड़कों के निर्माण व पुरानी सड़कों की मरम्मत में गुणवत्ता से किसी भी स्तर पर समझौता नहीं करेंगे। जो भी अधिकारी गुणवत्ता में लापरवाही करेंगे, उनके विरूद्ध कार्रवाई करेंगे। उन्होनें कहा कि सड़कों की गुणवत्ता की जांच अन्य एजेंसियों भी कराई जायेगी। मन्त्री जी ने कहा कि नई सड़कों का निर्माण निर्धारित समय के अन्तर्गत करें, ताकि निर्माण कार्य की लागत न बढ़े।
लोक निर्माण मंत्री ने विद्युत विभाग के अधिकारियो को निर्देश दिये कि निर्धारित रोस्टर के अनुसार विद्युत सप्लाई करायें, विशेषकर ग्रामीण क्षेत्रो में ग्रामीणों की सुविधानुसार विद्युतपूर्ति सुनिश्चित करें। उन्होनें निर्देश दिये कि विद्युत लौस को रोकें, विद्युत चोरी रोकने के लिए विशेष दस्ते भी गठन करें। उन्होनें विद्युत विभाग के अधिकारियो को निर्देश दिये कि डा. राममनोहर लोहिया ग्रामों में आवश्यतानुसार विद्युत खम्बे लगायें व विद्युत के जर्जर तारों को बदलने का अभियान भी शुरू करें। मन्त्री ने शिक्षा विभाग की समीक्षा करते हुए शिक्षा विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिये कि अध्यापकों के स्थानान्तरण में हो रही भ्रष्टता को सख्ती से रोकें, यदि कोई बाबू एैसी हरकत करता है, तो उसको निलम्बित कर विभागीय कार्यवाही करें। मन्त्री जी ने सिंचाई, सहकारिता तथा वसूली की भी समीक्षा की। बैठक में प्राविधिक शिक्षा राज्यमन्त्री राम सकल गुर्जर, खाद्य एवं रसद राज्य मंत्री इकबाल महमूद, परिवहन विभाग के राज्य मंत्री महबूब अली, श्रम एवं सेवायोजन विभाग के राज्य मन्त्री शाहिद मन्जूर, बेसिक शिक्षा विभाग के राज्य मंत्री योगेश प्रताप सिंह, पंचायत राज्य मंत्री बलराम यादव, बेसिक शिक्षा मंत्री राम गोविन्द चौधरी, नगर विकास विभाग के राज्य मन्त्री चितरंजन स्वरूप व राज्य मंत्री दर्जा प्राप्त वीरेन्द्र सिंह सहित जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा, मुख्य विकास अधिकारी रवीन्द्र गोडबोले, अपर जिलाधिकारी वित्त राजेश कुमार श्रीवास्तव व अपर जिलाधिकारी प्रशासन डा. इन्द्रमणि त्रिपाठी व अन्य विभागों के अधिकारी मौजूद थे।

Leave a Reply