गुजरात बनाने के लिए 56 इंच का सीना चाहिए: मोदी

भाजपा के प्रधानमंत्री पद के प्रत्याशी नरेंद्र मोदी
भाजपा के प्रधानमंत्री पद के प्रत्याशी नरेंद्र मोदी

गोरखपुर में आज आयोजित की गई भाजपा की विजय शंखनाद रैली में नरेंद्र मोदी ने सुभाष चंद बोष को याद करते हुए दलितों, पिछड़ों और गरीबों की बात की। उन्होंने विरोधियों को शब्दशः आरोपों के जवाब ही नहीं दिए, बल्कि उन्हें उल्टा चुनौती भी दी।

कांग्रेस मुक्त भारत की बात करने वाले नरेंद्र मोदी ने सरदार बल्लभ भाई पटेल की बात यहाँ भी की और उन्होंने गोरखपुर के ऐतिहासिक योगदान को भी याद किया। उन्होंने उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी की सरकार, मुलायम सिंह यादव और मुख्यमंत्री अखिलेश यादव पर जमकर निशाना साधा। बोले- मुझे इस बात की खुशी है कि मैं जहां भी जाता हूं, बाप-बेटा पीछा करते हैं। वे कहते हैं कि मोदी की हैसियत नहीं है गुजरात बनाने की, नेताजी आपको पता है गुजरात का मतलब क्या होता है? गुजरात का मतलब है 24 घंटे बिजली, 365 दिन बिजली और कृषि में 10% विकास दर। आप तो 3-4 परसेंट पर लुढ़क जाते हैं। नेताजी सच कहते हैं आप गुजरात नहीं बना सकते, इसके लिए 56 इंच का सीना चाहिए। उन्होंने कहा कि दस साल से गुजरात में शांति है, नेताजी आप यह नहीं कर सकते हैं। आपको इतना व्यापक समर्थन मिला था, लेकिन आपने न तो लोगों को नौकरी दी और न सुरक्षा। आपने राज्य को बर्बाद कर दिया। उन्होंने कहा कि अकेला उत्तर प्रदेश देश की गरीबी दूर कर सकता है। यूपी में बिजली, सड़क, रोजगार कुछ नहीं है। यहां अमूल जैसी डेयरी की जरूरत है, लाखों नौजवानों को रोजगार दे सकता है। सरकार यहां विकास करना ही नहीं चाहती है।

चार राज्यों में भाजपा की जीत का उल्लेख करते हुए कहा कि विधानसभा चुनाव लोकसभा चुनाव का ट्रेलर था। उन्होंने कहा कि राजस्थान में 34 सीटें अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित हैं, उसमें कांग्रेस को एक भी सीट नहीं मिली, वहीं मध्य प्रदेश की 35 सीटों में 28 पर भाजपा ने जीत हासिल की। छत्तीसगढ़ में 10 सीटों में से एक सीट पर कांग्रेस जीती। उन्होंने कहा कि भाजपा की सरकार में गरीबी कम हुई। उन्होंने कहा कि कांग्रेस गरीबों की बात करती है, लेकिन आजादी के इतने साल बीत जाने के बावजूद उसने गरीबी दूर नहीं की। देश की गरीबी के लिए वही जिम्मेदार है। बोले- आप मुझे 60 महीने दीजिए, मैं आपको चैन की जिंदगी दूंगा।

नरेंद्र मोदी से पहले रैली को संबोधित करते हुए राजनाथ सिंह ने कहा कि पिछले दो साल में प्रदेश में कई सांप्रदायिक दंगे हुए हैं। उन्होंने सवाल किया कि ऐसा क्यों होता है कि सपा की सरकार बनते ही प्रदेश में सांप्रदायिक हिंसा की घटनाएं क्यों बढ़ जाती हैं। उन्होंने कहा कि राजनीति सिर्फ सरकार बनाने के लिए नहीं होनी चाहिए, हमें इतनी छोटी राजनीति मंजूर नहीं है। राजनाथ सिंह ने कहा कि मुजफ्फरनगर में दंगा भी प्रदेश सरकार की वजह से हुआ और उसकी लापरवाही से ही फैला।
उन्होंने यह भी कहा कि मजहब के आधार पर किसी ने देश को बांटने का काम किया है, तो वह कांग्रेस ने किया है। कांग्रेस देश की सबसे बड़ी सांप्रदायिक पार्टी है। इससे पहले नरेंद्र मोदी और राष्ट्रीय अध्यक्ष राजनाथ सिंह ने मंदिर पहुंच कर बाबा गोरखनाथ के दर्शन किये। इस दौरान गोरक्षपीठ के उत्तराधिकारी योगी आदित्यनाथ, प्रो. यूपी सिंह और डॉ. वाईपी सिंह प्रमुख रूप से उपस्थित रहे।

Leave a Reply