गाय नहीं नीलगाय मार कर खाओ: शिवपाल सिंह यादव

 

 

 

 

 

 

 

इधर अखिलेश एक मुश्किल सुलझाते हैं उधर दूसरी तैयार खड़ी होती है। अब शिवपाल सिंह यादव ने नीलगाय पर विवादास्पद बयान देकर सरकार को पशु प्रेमियों के निशाने पर ला दिया है। उत्तर प्रदेश के सिंचाई मंत्री शिवपाल ने कहा, “गायों की हत्या न करें, वो नीलगाय से कम हैं… नीलगाय को कोई भी मार सकता है। कबाब के रूप मे उनका स्वाद अच्छा होता है। ” मंत्री जी को बयान देने से पहले शायद कानून की जानकारी नहीं थी। नीलगाय को कोई भी नहीं मार सकता। इसके शिकार से पहले डीएम की अनुमति लेनी होती है। मारने के बाद भी इसके कबाब खाना संभव नहीं है क्योंकि मृत नीलगाय को सरकार को सौंपना होता है। मंत्री जी को अब शायद यह जवाब देना भारी पड़ जाये कि, उन्होंने कब और कैसे नीलगाय के कबाब का स्वाद चखा। खुद तो गैरकानूनी काम किया ही, दूसरों को भी उनकी गलती दोहराने की सलाह दे डाली। बड़े-बुजुर्ग शायद इसीलिए कम बोलने की सलाह देते हैं। अब मंत्री जी को इस सलाह का महत्व समझ आ गया होगा। फिलहाल हम यही दुआ कर सकते हैं कि, लोग गाय को न मारें, नीलगाय के कबाब का स्वाद चखने की सोचे भी न और मंत्री जी कम बोलने की आदत डालें।

Leave a Reply