खुलेआम घूम रहे हैं सामूहिक बलात्कार की घटना के आरोपी

खुलेआम घूम रहे हैं सामूहिक बलात्कार की घटना के आरोपी

दिल्ली में हुए सामूहिक बलात्कार की घटना से संसद की चूलें हिल रही हैं। इंडिया गेट पर आक्रोशित लोग जमे हुए हैं, साथ ही गुस्से से पूरा देश ही सुलगता नज़र आ रहा है, लेकिन ग्रामीण क्षेत्रों में हुई बर्बर घटनाओं की आज भी कोई चर्चा तक नहीं कर रहा।

उत्तर प्रदेश के जनपद बदायूं स्थित क़स्बा उझानी निवासी एक महिला के साथ चार लोगों ने सामूहिक बलात्कार किया। किसी तरह बंधन मुक्त होने के बाद पीड़ित महिला ने उझानी कोतवाली पुलिस को पूरी घटना की जानकारी दी, लेकिन पुलिस ने कार्रवाई करना तो दूर, मुकदमा तक दर्ज नहीं किया। पीड़ित महिला उच्चाधिकारियों से मिली, तो 24 नवंबर को पुलिस ने चारों नामजदों के विरुद्ध मुकदमा तो दर्ज कर लिया, लेकिन किसी की भी गिरफ्तारी अभी तक नहीं हुई है, जबकि महिला उच्चाधिकारियों से लगातार संपर्क कर रही है। पीड़ित महिला का यह भी आरोप है कि पुलिस आरोपियों से मिल चुकी है और विवेचना में आरोपियों को लाभ पहुंचा रही है, उसने विवेचना बदलने को शपथ पत्र भी वरिष्ठ अधिकारियों को दे दिया है, पर उसकी गुहार सुनने तक को कोई तैयार नहीं है।

उक्त प्रकरण तो मात्र एक उदाहरण है, ऐसे तमाम केस बदायूं में ही हैं, जिनमें पुलिस ख़ास रूचि नहीं ले रही है। उत्तर प्रदेश की बात करें, तो प्रत्येक जिले में लगातार बलात्कार की घटनाएं सामने आ रही हैं, लेकिन इन घटनाओं पर किसी को गुस्सा नहीं आ रहा।

Leave a Reply