खुलासा: एक सप्ताह के अंदर ही इन्द्रेश पाल सिंह ने किया कमाल

घटना का खुलासा करते एसएसपी अतुल सक्सेना और सामने रखे बरामद लैपटॉप एवं पीछे खड़े चोर व एसओजी प्रभारी इन्द्रेश पाल सिंह
घटना का खुलासा करते एसएसपी अतुल सक्सेना, सामने रखे बरामद लैपटॉप एवं पीछे खड़े चोर व एसओजी प्रभारी इन्द्रेश पाल सिंह

एसओजी का प्रभारी बनने के एक सप्ताह के अंदर ही इन्द्रेश पाल सिंह ने कमाल कर दिया। चोरी हुए लैपटॉप की घटनाओं का खुलासा ही नहीं कर दिया, बल्कि 26 लैपटॉप सहित 5 लोगों को गिरफ्तार भी कर लिया। एसओजी कई दिनों से मेरठ में थी, सभी आरोपी मेरठ जिले के ही निवासी हैं।

उल्लेखनीय है कि बीती 14 जनवरी की रात में देवेंद्र सिंह विष्ट के टंडन प्लाजा स्थित लैपटॉप के शोरूम से शटर तोड़ कर एचपी कंपनी के 21 लैपटॉप चुरा लिए गये थे, इसी तरह 21 जनवरी की रात में अभिषेक रस्तोगी के कदीर मार्केट स्थित शोरूम का शटर तोड़ कर चोर विभिन्न कंपनियों के 40 लैपटॉप चुरा ले गए थे। घटनाओं को गंभीरता से लेते हुए एसएसपी अतुल सक्सेना ने पुलिस की कई टीमों सहित एसओजी को भी खुलासे के लिए जुटाया था।

एक सप्ताह पूर्व ही जिले में आये एसओजी प्रभारी इन्द्रेश पाल सिंह ने अपने सूत्रों के माध्यम से पता लगा लिया और चोरों को पकड़ने के लिए मेरठ जाकर खुद ही जाल बिछा दिया। पुलिस ने मेरठ जिले के थाना व कस्बा मवाना के मुहल्ला हीरालाल निवासी विपिन उपाध्याय पुत्र रामपाल उपाध्याय व मुहल्ला मुन्नालाल निवासी अखिलेश पुत्र वेदपाल व थाना नौचंदी क्षेत्र के गली नंबर 17 उतेली बाड़ा निवासी साबुद्दीन पुत्र छिद्दा खां और सकी मोहम्मद पुत्र मुतीन मोहम्मद के साथ थाना फलावदा क्षेत्र के ग्राम बातनोर निवासी कपिल आर्य पुत्र महेंद्र सिंह आर्य गिरफ्तार किये हैं, साथ ही अहमद निवासी खतौलिया चौक कस्बा व थाना मवाना व खुसरो निवासी आरटीओ कार्यालय के पीछे डवाई नगर थाना नौचंदी और सलामउद्दीन पुत्र इस्लामउद्दीन निवासी पावली खास थाना कंकरखेड़ा मेरठ भागने में सफल रहे।

घटना का खुलासा करने वाली टीम को एसएसपी अतुल सक्सेना ने 5 हजार रुपए इनाम देने की घोषणा की है। इस मौके पर सीओ सिटी सत्यसेन यादव, एसओजी प्रभारी इंद्रेश पाल सिंह, सिविल लाइंस थानाध्यक्ष जय प्रकाश सिंह यादव सहित टीम के अन्य सिपाही मौजूद रहे।

Leave a Reply