कटरा सआदतगंज की तपिश से लखनऊ-दिल्ली तक पारा चढ़ा

मुख्यमंत्री अखिलेश यादव
मुख्यमंत्री अखिलेश यादव

राजनैतिक दलों के लिए बदायूं कांड राजनीति का अहम मुददा बनता जा रहा है। गाँव में नेताओं के आने का तांता लगा हुआ है, वहीं आज लखनऊ में भाजपा महिला मोर्चा ने प्रदर्शन किया, तो पुलिस ने बल प्रयोग कर आग में घी डाल दिया। अब भाजपा ने समूचे प्रकरण को प्रतिष्ठा का प्रश्न बना लिया है। मंगलवार को भाजपा के कई बड़े नेता कटरा सआदतगंज पहुंचने वाले हैं, जिससे प्रशासन की साँसें थम गई हैं।

लखनऊ में आज मुख्यमंत्री कार्यालय घेरने जा रहीं भाजपा महिला मोर्चा की कार्यकर्ताओं और पुलिस के बीच तीखी बहस और झड़प हुई। धक्कामुक्की भी हुई, जिसमें कई महिला कार्यकर्ताओं के आंशिक चोटें आई हैं। प्रदर्शन भाजपा महिला मोर्चा की प्रदेश अध्यक्ष कमलावती सिंह के नेतृत्व में किया जा रहा था, जिसमें सांसद निरंजन ज्योति, प्रियंका रावत, कुसुमराय, अंजू बाला, कृष्णा राज, कृष्णा पासवान, बीना अग्रवाल, सत्या पांडेय और किरन वर्मा सहित तमाम महिला प्रतिनिधि उपस्थित थीं। प्रतिनिधिमंडल ने प्रमुख सचिव गृह से भेंट कर ज्ञापन भी सौंपा, लेकिन पुलिस द्वारा बल प्रयोग करने से भाजपा मामले को और तूल देना चाह रही है।

सूत्रों का कहना है कि मंगलवार को कटरा सआदतगंज में महिला मोर्चा की राष्ट्रीय अध्यक्ष सरोज पांडेय, पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह, सांसद उदित राज सहित आसपास के समस्त जिलों के विधायक व नेता पहुंच रहे हैं। बताया जा रहा है कि कुछ केन्द्रीय मंत्री भी आ सकते हैं, जिससे शासन-प्रशासन की मुश्किलें बढ़ सकती हैं।

उधर मंगलवार को ही मुख्यमंत्री अखिलेश यादव और प्रदेश के डीजीपी ए. एल. बनर्जी के आने का भी कार्यक्रम बताया जा रहा है। महान दल के अध्यक्ष केशवदेव मौर्य और आम आदमी पार्टी के नेता अरविन्द केजरीवाल के भी आने की चर्चायें।

Leave a Reply