ककराला को बदायूं तहसील में जोड़ने का प्रयास जारी

 

  • अमरूद फलपट्टी क्षेत्र ककराला में सम्पन्न हुई अमरूद गोष्ठी
ककराला में हुई फल गोष्ठी के दौरान मंचासीन अधिकारी व नेतागण
ककराला में हुई फल गोष्ठी के दौरान मंचासीन अधिकारी व नेतागण

बदायूं में अमरूद की खेती करने वाले किसानों की तरक्की के साथ उनकी उपज का वास्तविक मूल्य दिलाने तथा अमरूद की खेती को उद्योग से जोड़ने की वैज्ञानिक तकनीकियों की जानकारी उपलब्ध कराने हेतु अमरूद फलपट्टी क्षेत्र ककराला में गोष्ठी आयोजित कर किसानों को लाभान्वित किया गया।
ककराला स्थित हजरत शाह शुजाअत मियां के मजार शरीफ प्रांगण में आयोजित गोष्ठी में मुख्य अतिथि विधान परिषद सदस्य बनवारी सिंह यादव ने कहा कि अमरूद की पैदावार तथा चीनी के बनाने के कुशल कारीगरों के मौजूद होने के कारण ककराला की विशेष पहचान है। उन्होंने कहा कि ककराला से दातागंज तहसील की अधिक दूरी होने के कारण ककराला को बदायूं तहसील में शामिल कराए जाने के प्रयास जारी है। उन्होंने कहा कि शेखूपुर विधान सभा में पांच बिजली घर बनाने का सर्वे कराया जा रहा है और शीघ्र ही 150 सरकारी नलकूप भी विधान सभा क्षेत्र को मिलने वाले हैं, जिससे कृषकों कों सिंचाई में सुविधा होगी। उन्होंने विद्युत विभाग की अव्यवस्थाओं पर चर्चा करते हुए कहा कि जेई यहां आते नहीं, जिससे जनता और किसानों को असुविधा होती है। उन्होंने जनता की मांग पर कहा कि ककराला से मुहम्मदगंज, कादरचौक, असरासी उसहैत आदि मार्गों को हॉट मिक्स प्लान से बनाए जाने की जानकारी देते हुए कहा कि ककराला-बदायूं मार्ग की मरम्मत का कार्य भी शीघ्र कराया जाएगा।
शेखूपुर के विधायक आशीष यादव ने अपने विचार व्यक्त करते हुए कहा कि स्वयं पैदा की गई फसल से अधिक मुनाफा कमाने हेतु उसको विभिन्न रूपों में परिवर्तित कर बेचने से किसानों को अधिक फायदा होगा। उन्होंने कहा कि इसके लिए किसान जिला उद्यान कार्यालय पहुंचकर जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा विभिन्न योजनाओं के माध्यम से प्रत्येक वर्ग को लाभान्वित किया गया है।
जिलाधिकारी ने कहा कि अमरूद काश्तकार खेती के साथ-साथ उद्योग स्थापित कर उद्योगपति बने और अपनी उपज का भरपूर लाभ उठाएं। जिलाधिकारी ने ककराला में मण्डी शैड बनवाने की घोषणा करते हुए कहा कि मण्डी शुल्क के रूप में वसूली जाने वाली राशि का कुछ अंश ककराला में भी व्यय किया जाएगा। जिलाधिकारी ने कौशल विकास मिशन पर चर्चा करते हुए कहा कि इसके माध्यम से हर हुनरमन्द को रोजगार अथवा स्वरोजगार से जोड़ा जाएगा।
गोष्ठी की अध्यक्षता कर रहे नगर पालिका के अध्यक्ष महबूब सकलैनी ने सभी का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि किसानों की तरक्की से ही नगर का विकास होगा।
गोष्ठी में मुख्य विकास अधिकारी उदराज सिंह, लखनऊ से आए उद्यान एवं खाद प्रसंस्करण विभाग के उप निदेशक डा. एमएस खान, फल उद्योग विकास अधिकारी डा. एसके चौहान सहित विषयवस्तु विशेषज्ञ एवं वैज्ञानिकों द्वारा तमाम जानकारियां दी गई। गोष्ठी में अतिथियों एवं अधिकारियों का पुष्पगुच्छ देकर स्वागत किया गया। इस अवसर पर उप जिलाधिकारी दातागंज वैभव मिश्र, डीआरडीए के परियोजना निदेशक राम रक्षपाल, मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी  डा. डबल सिंह, जिला कृषि अधिकारी आरके सिंह, जिला उद्यान अधिकारी कौशल कुमार, मास्टर ताहिर अली खां सहित किसानगण मौजूद रहे। कार्यक्रम का संचालन मास्टर शोहराब ने किया।

Leave a Reply