आम सहमति से हुए सर्वदलीय घोटाले में लालू सहित 36 नपे

चारा घोटाले में सज़ा पा चुके बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव
चारा घोटाले में सज़ा पा चुके बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव

दुनिया भर में चर्चित बिहार के सत्तरह साल पुराने चारा घोटाले में राजद सुप्रीमो व पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव को सीबीआई की विशेष अदालत ने पांच साल की सजा सुनाई है, साथ ही 25 लाख रुपये का जुर्माना भी लगाया है, उनके सह-आरोपी बिहार के ही पूर्व मुख्यमंत्री जगन्नाथ मिश्रा को चार साल की सजा व दो लाख जुर्माना और जदयू सांसद जगदीश शर्मा को 4 साल की सजा के साथ उन पर पांच लाख रुपये का जुर्माना लगाया गया है। इसके अलावा पूर्व विधायक आरके राणा, पशुपालन विभाग के अधिकारी बीएन शर्मा, जीएस प्रसाद और केएम प्रसाद को पांच-पांच साल की सजा के साथ इन सब पर भी डेढ़-डेढ़ करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया गया है।

सीबीआई की विशेष अदालत ने 30 सितंबर को बिहार के चर्चित चारा घोटाले में चाईबासा कोषागार से अवैध तरीके से निकाले गये 37.70 करोड़ रुपये मामले में 45 लोगों को दोषी करार दिया था। विशेष जज प्रभाष कुमार सिंह ने आठ दोषियों को 30 सितंबर को ही तीन-तीन साल सश्रम कारावास के साथ 50 हजार से पांच लाख रुपये तक का जुर्माना लगा दिया था। इस मामले में आज लालू प्रसाद सहित 36 लोगों को सजा सुनाई गई, जिसमें छह राजनेता, पांच आईएएस अधिकारी और बीस सप्लायर शामिल हैं, जिससे कहा जा सकता है कि आम सहमति से किया गया यह सर्वदलीय घोटाला था।