आतंकी हमला, एक जवान शहीद, सीमा पार से भी दागे रॉकेट-मोर्टार

– सीमा पार गोलीबारी की घटना को गंभीरता से नहीं ले रही सरकार

आतंकी हमला, एक जवान शहीद, सीमा पार से भी दागे रॉकेट-मोर्टार

कश्मीर और पाकिस्तानी सीमा के हालात अच्छे नहीं हैं। सीआरपीएफ कैंप पर आज सुबह आतंकी हमला कर फरार हो गए। हमले में एक जवान शहीद हो गया। उधर संघर्ष विराम का उल्लंघन करते हुए सीमा पार से भी लगातार रॉकेट-मोर्टार दागे जा रहे हैं, जिसे घुसपैठ कराने का प्रयास माना जा रहा है।

आतंकी घटना श्रीनगर-बारमूला राजमार्ग पर स्थित बेमिना के सीआरपीएफ कैंप में बुधवार की सुबह की है। बेमिना बाइपास पर ही सीआरपीएफ की 73वीं वाहिनी की ई-कंपनी तैनात है। सीआरपीएफ के प्रवक्ता सुधीर कुमार ने बताया कि तड़के करीब तीन बजे आतंकियों ने अंधेरे का लाभ उठाते हुए कंपनी के शिविर में दाखिल होने का प्रयास किया। शिविर के पास कुछ संदिग्ध हरकत देख संतरी की ड्यूटी पर तैनात कांस्टेबल परवीन सिंह राजपूत पुत्र मान सिंह निवासी मध्य प्रदेश अपने मोर्चे से बाहर निकला। इससे पहले कि वह अन्य साथियों को सचेत करता, आतंकियों ने उस पर फायरिंग कर दी। उसने भी जवाबी फायर की, लेकिन तब तक उसे एक गोली लग चुकी थी। गोलियों की आवाज से पूरे शिविर में जवान सतर्क हो गए और आतंकियों पर जवाबी फायर शुरू कर दी। करीब 15-20 मिनट तक दोनों तरफ से गोलीबारी होती रही। इसके बाद आतंकी भाग गए। घायल परवीन कुमार को अस्पताल ले जाया गया, जहां उसने दम तोड़ दिया। शहीद जवान का शव राजकीय सम्मान के साथ उसके घर भेज दिया गया है, लेकिन अभी तक आतंकी नहीं पकडे जा सके हैं।

उधर पाकिस्तानी सेना रविवार से रॉकेट-मोर्टार लगातार दाग रही है। मंगलवार रात को भी कृष्णा घाटी सेक्टर की छह चौकियों पर जमकर गोलीबारी की गई। हालांकि गोलीबारी में कोई नुकसान नहीं हुआ है, लेकिन सीमा पर स्थिति तनावपूर्ण बनी हुई है, साथ ही संघर्ष विराम के नियमों का उल्लंघन भी है, पर केंद्र सरकार इसे गंभीरता से नहीं ले रही है, जबकि पाकिस्तान से तत्काल कड़े शब्दों में आपत्ति दर्ज करानी चाहिए।

 

Leave a Reply