आजम खां से प्रतिबंध न हटाने पर आयोग को चेतावनी दी

लोगों को संबोधित करते सपा विधायक और वक्फ़ विकास निगम के अध्यक्ष आबिद रजा
लोगों को संबोधित करते सपा विधायक और वक्फ़ विकास निगम के अध्यक्ष आबिद रजा

आजम खां के बहाने चुनाव आयोग पर हमला बोल कर समाजवादी पार्टी वोटों का ध्रुवीकरण करने के प्रयास के जुट गई है। समाजवादी पार्टी यह संदेश देने का प्रयास कर रही है कि चुनाव आयोग कांग्रेस के दबाव में ही नहीं है, बल्कि हिंदू कट्टरपंथी मानसिकता का है, जो मुसलमानों के पक्ष की बात नहीं करने दे रहा। आजम खां सहित बाकी सपा नेताओं का तर्क है कि अमित शाह से प्रतिबंध हटा दिया और मुस्लिम होने के कारण आजम खां की बात सुनी तक नहीं जा रही, जबकि सभी जानते हैं कि अमित शाह के भाषण में सीधे तौर पर ऐसा कुछ नहीं है और आजम खां ने स्पष्ट गलत शब्दों का प्रयोग किया है, पर इस तथ्य को छुपा कर समाजवादी पार्टी चुनाव में लाभ लेने के प्रयास में जुटी हुई है।

आजम खां से प्रतिबंध हटाने की मांग को लेकर रामपुर में कुछ लोग प्रदर्शन कर रहे हैं। बदायूं में भी आज सदर विधायक और वक्फ़ विकास निगम के अध्यक्ष आबिद रजा सैकड़ों लोगों के साथ भूख हड़ताल पर बैठ गये। उन्होंने कहा कि आयोग किस-किस पर प्रतिबंध लगायेगा, इस देश में बीस करोड़ आजम खां हैं। इस मौके पर राष्ट्रपति के नाम सिटी मजिस्ट्रेट को दिए ज्ञापन में चेतावनी दी गई है कि तीन दिन के अंदर आजम खां से आयोग ने प्रतिबंध नहीं हटाया, तो आमरण अनशन किया जाएगा। मोहतशाम सिद्दीकी, डा. अकील इस्माइल, गुड्डू गाजी, उमर कुरैशी, वसीम अख्तर, हरीश शंखधार, धर्मेन्द्र, नेत्रपाल यादव, राजकुमार गुप्ता, शहंशाह अब्बास, तहजीब अली सहित तमाम लोग मौजूद रहे।

Leave a Reply