आंदोलन करने वाले राजपूतों पर पुलिस का कहर

– इतिहास को तोड़-मरोड़ कर प्रसारित करने से आक्रोशित हैं राजपूत

– एकता कूपर के सीरियल, फिल्में और जीटीवी के बहिष्कार का आह्वान  

पुलिस के एकतरफा हमले की दास्ताँ सुनाते हुए भुक्तभोगी
पुलिस के एकतरफा हमले की दास्ताँ सुनाते हुए भुक्तभोगी

इतिहास और क्षत्रिय वंश के महापुरुषों के योगदान को अपने सीरियल में तोड़-मरोड़ कर दिखाने वाली एकता कपूर के विरुद्ध आन्दोलन करने वाले हजारों निहत्थे लोगों पर पुलिस ने पानी की बौछारों के साथ लाठियां भी बरसाईं, जिससे तमाम लोग घायल हुए हैं। क्षत्रिय समाज के आक्रोशित लोगों ने एकता कपूर के सीरियल और फिल्मों के बहिष्कार का आह्वान किया है।

जीटीवी पर प्रसारित होने वाले एकता कपूर के सीरियल जोधा-अकबर के साथ उन तमाम सीरियल और फिल्मों को लेकर राजपूतों में आक्रोश व्याप्त है, जिनमें इतिहास को तोड़-मरोड़ कर पेश किया जा रहा है एवं क्षत्रिय समाज की छवि धूमिल की जा रही है। राजपूत नेताओं का कहना है कि इस सीरियल और फिल्मों में इतिहास को तोड़-मरोड़ कर पेश किया जा रहा है। एकता कपूर और उनके पिता जितेन्द्र ने राजपूत नेताओं से माफी भी मांगी थी और आपत्तिजनक सीन हटाने का आश्वासन दिया था, लेकिन सीरियल का प्रसारण नहीं रोका, जिसको लेकर राजपूत नेताओं का रोष बढ़ गया। ऐसे सभी सीरियल और फिल्मों के प्रसारण को बंद कराने और एकता कपूर के साथ सभी निर्माता व निर्देशकों के विरुद्ध कार्रवाई की मांग को लेकर हजारों राजपूतों ने जंतर-मंतर पर प्रदर्शन किया, लेकिन कोई कार्रवाई करने का आश्वासन तक देने नहीं आया, तो सभी संसद का घेराव करने के लिए आगे बढ़ने लगे, इस पर पुलिस ने पानी की बौछार के साथ लाठियां बरसानी शुरू कर। पुलिस की एकतरफा कार्रवाई में कई लोगों के गंभीर चोटें आई हैं।

उधर सरकार, पुलिस और एकता कपूर के विरुद्ध राजपूतों का रोष बढ़ता ही जा रहा है, वहीं राजपूत नेताओं ने जीटीवी, एकता कपूर के सीरियल और फिल्मों का बहिष्कार करने के साथ प्रसारण बंद कराने की दिशा में योगदान देने का आह्वान किया है।

Leave a Reply