अनुशासनहीनता के चलते राम जेठमलानी भाजपा से निलंबित

– गडकरी के साथ सुषमा और जेटली की आलोचना पर नपे

राम जेठमलानी

बेवजह और बेवक्त बयान देने के लिए चर्चित राम जेठमलानी को भारतीय जनता पार्टी ने निलंबित कर दिया है। वे पिछले कुछ समय से भाजपा पर लगातार हमले कर रहे थे।

भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता और उच्चतम न्यायालय में वरिष्ठ वकील राम जेठमलानी सच और तीखा बोलने के लिए पहले से ही चर्चित रहे हैं, लेकिन उनका यह खास गुण पिछले कुछ दिनों से भाजपा पर ही भारी पड़ने लगा था। भाजपा के राष्ट्रिय अध्यक्ष नितिन गडकरी पर भ्रष्टाचार के आरोप लगे तो उनका बचाव करने की बजाय जेठमलानी ने उन्हें पद छोड़ने की सलाह दी। अभी दो दिन पहले उन्होंने सुषमा स्वराज, अरुण जेटली की भी आलोचना कर दी। सुषमा स्वराज और अरुण जेटली ने प्रधानमंत्री को चिट्ठी लिखकर अगले सीबीआइ निदेशक की नियुक्ति के फैसले को वापस लेने की मांग की थी जिस पर जेठमलानी ने खुलकर विपरीत राय व्यक्त कर दी थी। इस पर भाजपा ने कड़ी प्रतिक्रिया जारी करते हुए अनुशासनात्मक कार्यवाही भी की है। आज रविवार को पार्टी ने जेठमलानी को बाहर का रास्ता दिखा दिया।

Leave a Reply