अजन्मी जान के साथ तीन अन्य जिन्दा दफ़न

  • बीती रात हुई बारिश में सहसवान क्षेत्र के गाँव मुड़ारी में मकान ढहा
सहसवान क्षेत्र के गाँव मुड़ारी में बीती रात बारिश से गिरे इसी मकान में जिन्दा दफ़न हो गये पिता और दो बेटियां
सहसवान क्षेत्र के गाँव मुड़ारी में बीती रात बारिश से गिरे इसी मकान में जिन्दा दफ़न हो गये पिता और दो बेटियां

बदायूं जिले में स्थित तहसील सहसवान क्षेत्र के गाँव मुड़ारी में बुधवार की रात आसमान से पानी मौत बन कर गिरा। तेज़ बारिश से एक मकान ढह गया, जिसमें गृहस्वामी और उसकी एक विवाहिता गर्भवती बेटी के साथ दूसरी जवान बेटी जिंदा दफन हो गए। दर्दनाक घटना से गाँव में कोहराम मचा हुआ है, वहीं पूरे क्षेत्र में दुखद घटना की चर्चा हो रही है और हर कोई घटना स्थल की ओर दौड़ा आ रहा है।

सहसवान क्षेत्र के गाँव मुड़ारी में धर्म सिंह शाक्य का आधा कच्चा, आधा पक्का मकान है। गाँव में अधिकांश लोगों के ऐसे ही मकान हैं, लेकिन दुर्भाग्य ही कहा जायेगा कि बीती रात हुई बारिश धर्म सिंह के घर पर मौत की तरह हुई। तेज़ बारिश के दबाव को धर्म सिंह का मकान सहन नहीं कर सका और ढह गया। मकान के अंदर सो रहे गृह स्वामी धर्म सिंह (48), उसकी एक विवाहिता व गर्भवती बेटी रेश्मवती (27) के साथ दूसरी सोलह वर्षीय बेटी माया हमेशा के लिए सो गये। घटना के बाद गाँव भर में कोहराम मच गया। सूचना फैलते ही पूरे क्षेत्र में लोग स्तब्ध रह गए और जिसने भी सुना वह घटना स्थल की ओर दौड़ पड़ा। सूचना मिलते ही उपजिलाधिकारी सहसवान हरीशंकर यादव, तहसीलदार सुभाष चन्द्र यादव व पुलिस बल के साथ मौके पर आ गए और किसी तरह शव बाहर निकाले। बताया जाता है कि रेशमवती का विवाह बिल्सी थाना क्षेत्र के गाँव बांस बरौलिया निवासी रवि के साथ हुआ था और गर्भवती होने के बाद वह पिता के घर आराम करने आ गई थी, जिससे वह भी असमय काल के गाल में समां गई और उसके साथ अजन्मी जान भी दफ़न हो गई।

उधर दैवीय आपदा के तहत उपजिलाधिकारी की उपस्थिति में सपा नेता बृजेश यादव ने मृतकों के परिजनों को डेढ़-डेढ़ लाख रूपये के चैक आज ही दे दिए।

One Response to "अजन्मी जान के साथ तीन अन्य जिन्दा दफ़न"

  1. vishnu pr mishra   September 26, 2013 at 11:16 PM

    श्रद्धांजलि ।बहुत दुखद.

    Reply

Leave a Reply